Sports

नई दिल्ली : पूर्व भारतीय कप्तान और कोच अनिल कुंबले (Anil Kumble) ने स्टेडियम में दर्शकों की तादाद बढ़ाने के लिए विराट कोहली (Virat Kohli) के टेस्ट मैचों के लिए पांच केंद्र रखने के विचार का समर्थन किया। कुंबले हालांकि चाहते हैं कि बीसीसीआई (BCCI) 80 और 90 के दशक की पुरानी परंपरा अपनाए जिसमें त्योहारों (Festivals) के दौरान टेस्ट मैच विशेष केंद्र में ही कराए जाते थे। अस्सी और नब्बे के दशक के दौरान बीसीसीआई कैलेंडर में नव वर्ष के समय कोलकाता में और पोंगल के समय चेन्नई में टेस्ट मैच आयोजित किए जाते थे।

अनिल कुंबले ने टेस्ट क्रिकेट को बढ़ावा देने के लिए दिए सुझाव 

Anil Kumble image, Virat Kohli image, virat kohli photo, विराट कोहली फोटो , अनिल कुंबले

कुंबले ने कहा- मुझे लगता है कि टेस्ट क्रिकेट (Test Cricket) को बढ़ावा देने का निश्चित रूप से यह एक तरीका रहा। इन्हें कुछ केंद्रों तक सीमित किया जाए और साथ ही टेस्ट मैच के समय को चुनना भी अहम होता है। उन्होंने कहा कि हम सभी जानते हैं कि त्योहारों के समय में पोंगल के दौरान टेस्ट मैच चेन्नई में होते थे। और सत्र की शुरूआत के समय में दिल्ली और बेंगलुरू में टेस्ट मैच होते थे। मुंबई और कोलकाता में टेस्ट मैच होते थे। 

विराट कोहली ने पहले इस पर दिया था सुझाव 

Anil Kumble image, Virat Kohli image, virat kohli photo, विराट कोहली फोटो , अनिल कुंबले

इस हफ्ते के शुरू में भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच रांची में हुए टेस्ट के दौरान काफी कम संख्या में दर्शक पहुंचे। इसके बाद कोहली ने भविष्य की घरेलू श्रृंखलाओं के लिए 5 स्थायी टेस्ट केंद्रों के विचार का सुझाव दिया जैसा कि इंग्लैंड (England) और आस्ट्रेलिया (Australia) करते हैं। कुंबले ने कहा कि मुझे लगता है कि टेस्ट क्रिकेट के लिए इन केंद्रों को बढ़ावा देना भी अहम है जिसमें लोगों को पता होगा कि ये टेस्ट केंद्र हैं। इससे सत्र के शुरू में पता चल जाएगा कि यहां टेस्ट मैच होने है ताकि आप टेस्ट क्रिकेट के लिए टिकट बेच सको और सुनिश्चित करो कि दर्शक मैच देखने आएं।

.
.
.
.
.