Sports

खेल डेस्क : रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के खिलाफ आखिरी गेंद पर मैच गंवाने से दिल्ली कैपिटलस के कप्तान रिषभ पंत निराश नजर आए। हालांकि दिल्ली के पास आखिरी गेंद तक जीतने का चांस था क्योंकि एक गेंद में बेंगलुरु को जीत के लिए 5 रन चाहिए था। लेकिन यहां श्रीकर ने छक्का मारकर दिल्ली की लय बिगाड़ दी। मैच खत्म होने के बाद दिल्ली के कप्तान पंत ने हार के कारणों पर बात की और माना कि उनकी फील्डिंग उस स्तर की नहीं रही, कि कोई टीम मैच जीत सके।

पंत ने कहा कि किसी भी टीम के लिए फील्डिंग काफी मायने रखती है। खास तौर पर अगर मुकाबला ट्वंटी-20 क्रिकेट का हो तो यहां जीत हार भी इससे ही तय होती है। हम बोल सकते हैं कि हमारी फील्डिंग उस स्तर की नहीं रही जिस तरह की हमें उम्मीद थी। गेंदें छोड़ी जा सकती है। रन निकलते हैं लेकिन जब आप कैच छोड़ते हो तो मैच भी हाथ से निकल जाता है। यह ऐसा विभाग है जिस पर हमें लगता है कि काफी काम करने की जरूरत है। आज के मैच में हमें अपने इस कमजोर विभाग के कारण हार झेलनी पड़ी।  हमें अगले मैच में अच्छी फील्डिंग करनी होगी ताकि मैच जीत सकें।

पंत ने माना कि यूएई की परिस्थितियां भी कई बार बाद में फील्डिंग कर रही टीम के लिए अड़चनें पैदा कर देती है। इन मैदानों पर गर्मी बहुत होती है। पसीने के कारण अक्सर फील्डर के हाथ से गेंद निकल जाती है। अगर हमारी फील्डिंग की बात करें तो कई ऐसे मौके थे जब फील्डरों के हाथों से गेंद निकल गई। इन मैदानों पर ओस बढ़ा कारण निभाती हैं। इसीका असर जीत-हार पर पड़ा। अभी अच्छा महसूस नहीं कर रहा क्योंकि आपको ऐसे मैच जीतने की जरूरत होती है। लेकिन हमने अपना 100 फीसदी दिया।
 

.
.
.
.
.