Sports

नई दिल्ली : राजस्थान के खिलाफ डीविलियर्स मैदान पर आए तो उनकी टीम 12.6 ओवर में 102 रन बना चुकी थी। इसके बाद जरूरी 77 रनों के लिए डीविलियर्स ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की। उन्होंने महज 22 गेंदों पर एक चौके और छह छक्कों की मदद से 55 रन बनाए और अपनी टीम को 20वें ओवर में जीत दिला दी।

PunjabKesari

महत्वपूर्ण पारी खेलने के बाद एबी डीविलियर्स ने कहा- मैं पूरी तरह से खुश हूं। गेंदबाजी के दौरान मैं ईमानदारी से सोच रहा था कि हम अच्छे नहीं गए। कुछ मूर्खतापूर्ण चीजें सामने आईं। कुछ नो बोल भी आईं जोकि युजी ने फेंकी नहीं थी। विराट और मैंने इसपर बात भी की। इसे रीसेट करने की आवश्यकता है। पारी के दौरान मैं बहुत ही नर्वस था लेकिन मुझे अपने प्रदर्शन पर गर्व है।

डीविलियर्स बोले- मैं हमेशा टीम के लिए प्रदर्शन करना चाहता हूं। मालिकों को दिखाना चाहता हूं कि मैं एक अच्छे कारण के चलते यहां हूं। आपकी फैमिली आपको देखते हैं, फैंस देखते हैं यह सभी चीजें महत्वपूर्ण हिस्सा निभाती हैं। मैं अपने गेमप्लान से चिपके रहने की कोशिश करता हूं। यह एक बिल्ली और चूहे का खेल है।

अपनी पारी पर डीविलियर्स बोले- ईमानदारी से कहूं तो मैंने किसी भी बॉल को बल्ले के बीचो बीच नहीं मारा। हां, यह मिडिल के करीब जरूर थीं। सौभाग्य से मुझे वहां कुछेक ओवर मिले और मैंने उन्हें परेशान कर दिया। अभी हमारे पास कुछ अच्छे खेल हैं, कुछ औसत खेल भी हैं। इस टूर्नामेंट में अब तक छह अच्छे खेल हो चुके हैं। इसलिए सकारात्मकता भरपूर है हममें।

 

.
.
.
.
.