Sports

नूर सुल्तान : राजनीतिक विवाद के चलते उठे गतिरोध और लंबी उठापटक के बाद भारत और पाकिस्तान आखिर कजाखिस्तान के नूर सुल्तान के तटस्थ स्थल पर डेविस कप एशिया ओसनिया जोन के पहले राउंड के मुकाबले के लिए तैयार हो गए हैं। दोनों टीमों के बीच डेविस कप इतिहास में यह सातवां मुकाबला होगा और भारत लगातार सातवीं जीत के इरादे से उतरेगा। 

डेविस कप के नए फार्मेट के तहत यह मुकाबला 29 और 30 नवंबर को नूर सुल्तान के नेशनल टेनिस सेंटर के हार्ड कोर्ट पर खेला जाएगा। इस मुकाबले का गुरूवार को ड्रॉ निकाला गया जिसमें पहले एकल में रामकुमार रामनाथन का मुकाबला मोहम्मद शोएब से होगा जबकि दूसरे एकल में सुमित नागल और हुजैफा अब्दुल रहमान आमने सामने होंगे। युगल मैच में 46 वर्षीय लिएंडर पेस और जीवन नेदुनचेझियन की जोड़ी का मुकाबला हुजैफा और शोएब की जोड़ी से होगा। चौथे मैच में नागल और शोएब तथा पांचवें मैच में रहमान और रामनाथन भिड़ंगे।

नागल विश्व रैंकिंग में 131वें स्थान के साथ इस मुकाबले का सर्वोच्च रैंकिंग के खिलाड़ी हैं। रामनाथन की एकल रैंकिंग 176 है। पाकिस्तान के दोनों खिलाड़यिों के पास फिलहाल कोई रैंकिंग नहीं है। भारत के लिएंडर पेस युगल रैंकिंग में 105वें और जीवन 111वें स्थान पर हैं। पाकिस्तान में इस मुकाबले में तीन खिलाड़यिों की टीम उतारी है जिसमें मोहम्मद शोएब खिलाड़ी कप्तान हैं। पाकिस्तान के शीर्ष खिलाड़ी ऐसाम उल हक कुरैशी इस मुकाबले को इस्लामाबाद से शिफ्ट कर नूर सुल्तान में कराये जाने के विरोध में अपनी राष्ट्रीय टीम से हट गये थे। भारत के गैर खिलाड़ी कप्तान रोहित राजपाल हैं। 

यह मुकाबला मूलत: पाकिस्तान के इस्लामाबाद में सितंबर में होना था लेकिन वहां सुरक्षा चिंताओं और फिर भारत के विरोध के चलते अंतरराष्ट्रीय टेनिस महासंघ (आईटीएफ) ने इसे नूर सुल्तान के तटस्थ स्थान पर कराने का फैसला किया। दोनों टीमें पहली बार 1962 में आमने सामने हुई थीं और तब लाहौर में भारत 5-0 से जीता था। भारत ने 1963 में पूना में पाकिस्तान को 4-1 से, 1964 में लाहौर में पाकिस्तान को 4-1 से, 1970 में पटना में पाकिस्तान को 3-1 से, 1973 में कुआलालम्पुर के तटस्थ स्थल पर पाकिस्तान को 4-0 से और 2006 में मुंबई में पाकिस्तान को 3-2 से हराया था। दोनों टीमें 13 साल के लंबे अंतराल के बाद डेविस कप में आमने सामने होंगी।

इस मुकाबले के लिए भारतीय टीम में भी काफी उठापटक हुई और पहले के गैर खिलाड़ी कप्तान महेश भूपति ने राजपाल को कप्तान बनाए जाने का विरोध भी किया। इस मुकाबले से देश के शीर्ष युगल खिलाड़ी रोहन बोपन्ना, दिविज शरण और शशि मुकुंद चोट के कारण इस मुकाबले से हट गये थे। इस मुकाबले में उतरने के साथ जीवन नेदुनचेझियन डेविस कप खेलने वाले भारत के 75वें खिलाड़ी बन जाएंगे। कुरैशी और अकील खान की अनुपस्थिति में पाकिस्तान ने एक बिल्कुल युवा टीम उतारी है जिन्हें अंतरराष्ट्रीय स्तर का ज्यादा अनुभव नहीं है। भारत को यह मुकाबला जीतने में कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए। इस मुकाबले की विजेता टीम विश्व ग्रुप क्वालिफायर खेलने मार्च 2020 में क्रोएशिया जाएगी। इस मुकाबले के मैच भारतीय समयानुसार शुक्रवार को डेढ़ बजे से और शनिवार को साढ़े 11 बजे से खेले जाएंगे। 

.
.
.
.
.