Sports

नई दिल्ली : बर्मिंघम के मैदान पर इंगलैंड की टीम कभी 337 रन न बना पाती अगर महेंद्र सिंह धोनी एक भयानक भूल न कर देते। दरअसल शुरुआती ओवरों में इंगलैंड के बल्लेबाज जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी की स्टिक गेंदबाजी के आगे कुछ परेशान हो रहे थे। लेकिन विकेट लेने का मौका 11वें ओवर में हार्दिक पांड्या लेकर आए। हार्दिक की एक गेंद पर जेसन रॉय ने पुल शॉट मारना चाहा था लेकिन वह इसमें सफल नहीं हो पाए।

CWC 2019 : MS Dhoni big mistake in IND v ENG Match

हार्दिक ने धोनी से बल्ले से आवाज आने का पूछा तो विकेटकीपर धोनी ने मना कर दिया। धोनी के मना करने पर आखिरकार भारतीय कप्तान विराट कोहली ने भी डीआरएस नहीं लिया। वहीं, टीवी पर जब अहतियात के लिए जब रिप्ले दिखाया गया तो पता चला कि स्नीकोमीटर में कुछ हलचल नजर आ रही थी। दरअसल गेंद राय के ग्लव्स छूकर विकेटकीपर धोनी के हाथों में गई थी। अगर धोनी मौके को भांप जाते तो इंगलैंड बड़े स्कोर की ओर न जा पाता।

बता दें कि इंगलैंड की टीम को 337 रन तक ले जाने में उनके दोनों सलामी बल्लेबाज जेसन रॉय और जॉनी बेयरस्टो को महत्वपूर्ण योगदान रहा। दोनों ने पहले विकेट के लिए 160 रन जोड़कर अपनी टीम को मजबूत शुरुआत दे दी। इसके बाद जो रूट और बेन स्टोक्स ने मजबूत पारियां खेलकर अपनी टीम को 300 से पार लगा दिया। बता दें कि विश्व कप में बेयरस्टो और राय ने दूसरी बार शतकीय साझेदारी की है।

.
.
.
.
.