Sports

स्पोर्ट्स डेस्क: क्रिकेट के इतिहास में जम्बो के नाम से मशहूर पूर्व भारतीय स्पिनर अनिल कुंबले आज यानि कि 17 अक्टूबर को अपना 49वां जन्मदिन मना रहे हैं।कर्नाटक में जन्मे कुंंबले अपने क्रिकेटर करियर में कई कीर्तिमान अपने नाम कर चुके हैं। बता दें, कि कुंबले ने अपना क्रिकेट डेब्यू साल 1990 में श्रीलंका के खिलाफ किया था। जी हां, तो चलिए आज हम आपको कुंबले के करियर के बारें में कुछ खास बातें बताने जा रहे है। 

क्यों कहते हैं अनिल कुंबले को- जंबो 
Anil Kumble Birthday, कुंबले के नाम दर्ज हैं ऐसे 3 रिकॉर्ड्स, जिन्हें तोड़ना है बहुत मुश्किल
कुछ वक्त पहले कुंबले ने अपने फैन्स के सवालों का जवाब देते हुए ट्विटर पर इस राज से पर्दा खुद उठाया था। कुंबले ने कहा था कि बात ईरानी ट्राफी की है, उस वक्त मैं दिल्ली के कोटला मैदान में रेस्ट ऑफ इंडिया की तरफ से खेल रहा था और सिद्धू मिड ऑन पर फील्डिंग कर रहे थे। मेरी कुछ गेंदें अचानक उछल रही थीं, जिसके बाद सिद्धू ने कहा जंबो जेट। बाद में जेट तो हट गया, लेकिन जंबो रह गया। तब से मेरे सभी टीम-साथी मुझे जंबो कहने लगे। मेरी हाइट ज्यादा है, इसलिए भी लोगों को लगा कि मेरे ऊपर ये नाम सूट करेगा और तब से मैं लोगों के लिए जबो बन गया। 

कुंबले के ये रिकॉर्ड्स तोड़ पाना बहुत मुश्किल
Anil Kumble

1- टेस्ट क्रिकेट में 500 से ज्यादा विकेट और 2000 से ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड दो ही खिलाड़ियों के नाम दर्ज हैं। पहल ऑस्ट्रेलिया के शेन वॉर्न और दूसरा अनिल कुंबले। भारत की ओर से मौजूदा समय में आर अश्विन ऐसे खिलाड़ी नजर आते हैं, जो शायद कुंबले का ये रिकॉर्ड तोड़ पाएं।

2- कुंबले टेस्ट की एक पारी में सभी 10 विकेट लेने वाले इकलौते भारतीय और दुनिया के महज दूसरे गेंदबाज हैं। कुंबले ने 1999 में पाकिस्तान के खिलाफ दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर ये कारनामा किया था। 

3- कुंबले ने 619 टेस्ट विकेट लिए हैं, जो किसी भी भारतीय द्वारा लिए गए सबसे ज्यादा टेस्ट विकेट हैं। ओवरऑल वो तीसरे नंबर पर हैं और उनसे आगे मुथैया मुरलीधरन और शेन वॉर्न ही हैं। इसके अलावा उन्होंने कुल 956 इंटरनेशनल विकेट लिए हैं।


यूं रहा कुंबले का क्रिकेट करियर

Anil Kumble, कुंबले के नाम दर्ज हैं ऐसे 3 रिकॉर्ड्स, जिन्हें तोड़ना है बहुत मुश्किल
कुंबले ने अपना पहला इंटरनेशनल वनडे मैच साल 1990 में श्रीलंका के खिलाफ खेला था। वहीं, उन्होंने अपना पहला इंटरनेशनल टेस्ट मैच साल 1900 में इंग्लैंड के खिलाफ खेला था। अनिल कुंबले ने 132 टेस्ट मैच की 236 पारियों में 619 विकेट लेकर टीम इंडिया के सबसे सफल गेंदबाज हैं। कुंबले ने 271 एकदिवसीय मैच की 265 पारियों में 337 विकेट लिए हैं।

.
.
.
.
.