Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : पाकिस्तान को हाल ही में न्यूजीलैंड में 2-0 से टेस्ट सीरीज में हार का सामना करना पड़ा है। इस हार का जिम्मा पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कोच और पूर्व क्रिकेटर मिस्बाह उल हक पर लगाया जा रहा था और रिपोर्ट्स में ये बात सामने आई थी कि उन्हें कोच पद से हटाया जा सकता है। अब पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने खुलासा किया है कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने मिस्बाह को कोच पद से हटाने का फैसला कर लिया है। 

अख्तर ने अपने यूट्यूब चैनल पर इस बात का खुलासा करते हुए कहा कि आपने पाकिस्तान क्रिकेट टीम का तमाशा एक बार फिर देखा होगा। उन्होंने कमेटी बना दी, पीसीबी अपने उपर लगे इल्जाफ कमेटी पर रख देता है। कमेटी ने ये कहा था हमने वह फैसला लिया था। उन्होंने कहा, मिस्बाह को हटाने का फैसला कर लिया गया है। उनकी जगह एंडी फ्लावर नए कोच के रूप में फाइनल हो चुके हैं। 

उन्होंने कहा, एंडी इसलिए कोच पद नहीं संभाल रहे क्योंकि वह मुल्तान सुलतांस के कोच हैं और वह चाहते हैं कि मेरे इस साल के पीएसएल के पैसे बन जाए फिर उसके बाद में टेकओवर करूंगा। अब मिस्बाह के साथ जो बाकी 6-7 लोग हैं जिनमें फिजियो आदि हैं, उन्हें अपनी नौकरी की पड़ी है। उन्होंने कहा, एंडी फ्लावर अपनी टीम लेकर आ रहा है, वो नहीं छोड़ेगा जो कोच के पसंदीदा थे, एंडी ये काम नहीं करेगा। वह मैडिकल पैनल अपना लेकर आएगा। 

पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा, जहां तक मिस्बाह की बात है तो पीसीबी जानकर एवरेज लोग रखता है ताकि छह महीने बाद उनकर इल्जाम लगा सके, उसको निकाल सके ताकि पीसीबी पर कोई बात ना आए। पीसीबी वाले बहुत चालाक होते हैं। ये 20-25 सालों से ड्रामा करते रहे हैं, एवरेज व्यक्ति को लाते हैं, वह परफार्म नहीं कर पाता और 6 महीने बाद कमेटी बना देते हैं फिर उसके बाद कहते हैं मिसबाह ऐसा था। अख्तर ने कहा ऐसा इसलिए है क्योंकि पीसीबी एक औसत दर्जे का संस्थान है। 

.
.
.
.
.