Sports

नई दिल्ली : भारतीय फुटबाल टीम के पूर्व कप्तान बाइचुंग भूटिया ने आईसीसी क्रिकेट विश्व कप के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड से मिली हार पर कहा कि कई बार सर्वश्रेष्ठ टीमें खिताब नहीं जीत पाती। मैनचेस्टर में जीत के लिए 240 रन का पीछा करने उतरे भारत का शीर्ष क्रम पूरी तरह लडख़ड़ा गया और टीम 18 रन से मैच हार गई। भूटिया ने एक कार्यक्रम के दौरान कहा- जैसा कि विराट (कोहली) ने कहा था- हम 45 मिनट खराब क्रिकेट खेले  लेकिन अगर हम अच्छा खेले तो 10 मैचों में उन्हें 10 बार हरा देंगे। अगर हम टूर्नामेंट से बाहर हो गए है तो इसका यह मतलब नहीं कि भारत खराब टीम है।

भारत ने आठ मैचों में सात जीत के साथ ग्रुप चरण में शानदार प्रदर्शन किया। सेमीफाइनल में हालांकि शीर्ष क्रम के बुरी तरह से लडख़ड़ाने के कारण टीम का तीसरी बार ट्राफी उठाने का सपना चकनाचूर हो गया लेकिन भूटिया ने कहा कि विराट कोहली की टीम ‘विश्व कप में सर्वश्रेष्ठ टीम’ थी। उन्होंने कहा- यह वैसे ही जैसे सर्वश्रेष्ठ टीम जीत दर्ज नहीं कर सकी। कई बार आप सर्वश्रेष्ठ होते है लेकिन सर्वश्रेष्ठ टीम जीत दर्ज नहीं करती, खेलों में यह होता है। हमें और मजबूती से वापसी करनी होगी। भारत के लिए 107 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 42 गोल करने वाले भूटिया ने कहा कि आईसीसी को इस खेल को दूसरे देशों में भी बढ़ावा देना चाहिए।

भूटिया ने कहा- मुझे लगता है कि आईसीसी को इस खेल का दूसरे देशों में प्रसार शुरू करना चाहिए। टूर्नामेंट में हम और अधिक टीमों को देखना चाहते है, नई टीमों को देखना चाहते है। उन्होंने इस संबंध में फुटबाल के वैश्विक प्रशंसकों का हवाला दिया। उन्होंने कहा- इस क्रिकेट विश्व कप में हमने स्टेडियम में सिर्फ भारत, बांग्लादेश और पाकिस्तान के प्रशंसकों को देखा, हमें अधिक लोगों (अन्य देशों से) को देखने की जरूरत है, खेल को प्रसार की जरूरत है।

.
.
.
.
.