Sports

नई दिल्ली : भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) ने नई इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) टीमों के लिये निविदा दस्तावेज खरीदने की समय सीमा 20 अक्टूबर तक 10 दिन के लिए बढ़ा दी है और विश्वस्त सूत्रों के अनुसार दो नई फ्रेंचाइजी में प्रत्येक की कीमत 3500 करोड़ रूपए से कम की नहीं होगी। आईपीएल की संचालन परिषद ने 31 अगस्त को 10 लाख रूपए के निविदा शुल्क (जिसे वापस नहीं किया जाएगा) के भुगतान पर ‘निविदा आमत्रंण' (आईटीटी) दस्तावेज जारी किया था। इसे पहले 10 अक्टूबर तक बढ़ा दिया गया था। 

बीसीसीआई की विज्ञप्ति के अनुसार कि विभिन्न इच्छुक कंपनियों के अनुरोध को देखते हुए आईटीटी दस्तावेज खरीदने की तारीख को और बढ़ाकर अब 20 अक्टूबर 2021 तक करने का फैसला किया गया है। बीसीसीआई की योजना 2022 आईपीएल चरण में दो और टीमों को जोड़ने की है और इनके अहमदाबाद, लखनऊ और पुणे से होने की उम्मीद है। पता चला है कि बड़े व्यावसायिक घराने जैसे कोटक ग्रुप, ओरोबिंदो फार्मा, टोरेंट फार्मा, आरपी-संजीव गोयंका ग्रुप, बिड़ला ग्रुप और अडानी ग्रुप आईपीएल में टीम खरीदने के इच्छुक हैं जो फिलहाल अभी आठ टीमों का टूर्नामेंट है।

बीसीसीआई कम से कम 7000 करोड़ रूपये की कमाई करने की उम्मीद कर रहा है, हालांकि प्रत्येक टीम का आधार मूल्य 2000 करोड़ रूपए रखा गया है। भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने तीन दल के समूह को बोली लगाने की अनुमति दी है। नई टीमों की घोषणा दुबई में 25 अक्टूबर को किए जाने की उम्मीद है जिससे एक दिन पहले भारत टी20 विश्व कप में अपने अभियान की शुरूआत चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ करेगा।  

.
.
.
.
.