Sports

बैकॉक : कोविड-19 के कई परीक्षण के बाद विश्व के पूर्व नंबर एक बैडमिंटन खिलाड़ी किदाम्बी श्रीकांत की नाक से खून बहने लगा तथा थाईलैंड ओपन के स्वास्थ्य अधिकारियों के गलत व्यवहार से नाराज इस भारतीय शटलर ने मंगलवार को कहा कि यह ‘अस्वीकार्य' है। श्रीकांत के अलावा भारतीय दल में ओलंपिक रजत पदक विजेता पी वी सिंधू, सौरभ वर्मा, सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी, चिराग शेट्टी और अश्विनी पोनप्पा शामिल हैं।

PunjabKesari

श्रीकांत ने ट्विटर पर लिखा है कि हम मैच के लिए अपना ध्यान रखते हैं और इसके लिये खून बहाने के लिये नहीं आये हैं। हालांकि यहां पहुंचने के बाद मेरे चार परीक्षण किये गये और मैं यह नहीं कह सकता कि इनमें किसी का भी अनुभव अच्छा रहा। यह अस्वीकार्य है। उन्होंने चौथी बार परीक्षण किए जाने के बाद अपने नाक से खून बहने की तस्वीर भी साझा की है। 

इस 27 वर्षीय खिलाड़ी को अपने अभियान की शुरुआत बुधवार को हमवतन वर्मा के खिलाफ करनी है। विश्व बैडमिंटन महासंघ (बीडब्ल्यूएफ) ने कहा कि एक चिकित्सक श्रीकांत का उपचार कर रहा है और उसे चिकित्सा संबंधी स्पष्टीकरण का इंतजार है। बीडब्ल्यूएफ के अधिकारी ने कहा कि रोग नियंत्रण विभाग और कोविड-19 परीक्षण दल से जुड़ा एक चिकित्सक श्रीकांत का उपचार कर रहा है। 

बीडब्ल्यूएफ को अब भी थाईलैंड बैडमिंटन संघ और रोग नियंत्रण विभाग से इसके कारणों के बारे में चिकित्सकीय स्पष्टीकरण का इंतजार है। स्टार खिलाड़ी साइना नेहवाल का कोविड-19 परीक्षण पॉजिटिव आने के बाद भारतीय खिलाड़ियों का चौथी बार परीक्षण किया गया था।

.
.
.
.
.