Sports

नई दिल्ली: लॉकडाउन दिशानिर्देशों में ढील के बाद आउटडोर ट्रेनिंग शुरू करने वाली एथलीट दुती चंद ने भुवनेश्वर के कलिंगा स्टेडियम में अभ्यास शुरू किया लेकिन उन्हें खाली स्टेडियम में अकेले ट्रेनिंग करने का अहसास थोड़ा अजीब लगा। ओडिशा सरकार ने कोविड-19 लॉकडाउन के चौथे चरण में दिशानिर्देशों में ढील देकर ट्रेनिंग की अनुमति दी। चौबीस साल की दुती ने सोमवार को दो महीने बाद पहली बार सिंथेटिक ट्रैक पर अभ्यास किया।

दुती ने कहा, ‘दो महीनों बाद मैं आउटडोर ट्रेनिंग कर रही थी और ट्रैक पर दौड़ते हुए हवा को महसूस करना बहुत अच्छा अहसास था। ट्रैक एथलीट के लिये इससे बेहतर अहसास कुछ नहीं हो सकता। साथ ही मैं एक अजीब सी चीज भी महसूस कर रही हूं।’ एशियाई खेलों में 100 मीटर और 200 मीटर में रजत पदक जीतने वाली दुती ने कहा, ‘सामान्य रूप से कलिंग स्टेडियम परिसर के अंदर होस्टल में काफी प्रशिक्षु होते हैं लेकिन इस महामारी के चलते वे सभी अपने घर जा चुके हैं। इसलिये इतने बड़े स्टेडियम में सिर्फ मैं ही ट्रेनिंग कर रही हूं। यह थोड़ा अजीब है, भयानक शांति है।’

दुती ने आगे कहा, ‘मैं सुबह छह बजे ट्रेनिंग शुरू करती हूं और आठ बजे तक खत्म करती हूं। वह आठ से थोड़ा पहले आता है। इसलिये हम एक साथ ट्रेनिंग नहीं करते। शाम में मैं सात बजे से एक घंटे का अभ्यास करती हूं।’ इस धाविका ने कहा, ‘मांसपेशियां अभी थोड़ी जकड़ी हैं, मैं उन्हें ढीला कर रही हूं। कम से कम दो महीने लगेंगे, पूरी रफ्तार में आने में। मेरे कोच एन रमेश ट्रेनिंग के दौरान वीडियो कॉल पर रहते हैं और वह मुझे बताते रहते हैं कि क्या करना है, क्या नहीं और मैं उनके आदेश का पालन करती हूं।’
 

.
.
.
.
.