Sports

नई दिल्लीः भारतीय हाॅकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह ने कहा कि एशियाई चैम्पियंस ट्राफी से न सिर्फ एशियाई खेलों में की गई गलतियों को दुरूस्त करने का मौका मिलेगा बल्कि आगामी विश्व कप की तैयारी का भी सुनहरा मौका मिलेगा । भारत को एशियाई खेलों के सेमीफाइनल में मलेशिया ने हराया लेकिन भारत ने चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को हराकर कांस्य पदक जीता ।           

मनप्रीत ने ओमान में होने वाली एशियाई चैम्पियंस ट्राफी के लिए रवाना होने से पहले मनप्रीत ने कहा, ''हमारे लिए पिछले कुछ महीने मुश्किलों भरे रहे। हम एशियाई खेलों में अपने खिताब का बचाव नहीं कर पाए लेकिन अब समय है कि भुवनेश्वर में होने वाले विश्व कप से पूर्व हम खुद को संगठित करें।'' मनप्रीत ने कहा, '' यह टूर्नामेंट हमें कुछ बेहतरीन एशियाई टीमों से मुकाबला करने का बेहतरीन मौका देता है जो नवंबर-दिसंबर में होने वाले विश्व कप का भी हिस्सा होंगी। हम एशियन चैंपियंस ट्रॉफी में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर खिताब बचने की पूरी कोशिश करेंगे।''  
manpreet singh

एशियन चैंपियंस ट्रॉफी में भारत का मुकाबला विश्व की 12वें नंबर की टीम मलेशिया, चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान, 14वें नंबर की टीम दक्षिण कोरिया, एशियाई खेलों के स्वर्ण विजेता जापान और मेजबान ओमान से होना है। भारत को मलेशिया से एशियाई खेलों के सेमीफाइनल में सडन डैथ में मिली हार का बदला चुकाना होगा। भारत ने टूर्नामेंट में 2016 में पाकिस्तान को 3-2 से हराकर खिताब जीता था। भारत इससे पहले 2011 में भी विजेता रहा है। यह टूर्नामेंट 18-28 अक्टूबर तक चलेगा। छह टीमें राउंड रोबिन लीग में एक दूसरे से खेलेंगी और शीर्ष चार टीमें सेमीफाइनल में पहुंचेंगी। कांस्य और स्वर्ण पदक मैच 28 अक्टूबर को खेले जाएंगे। 
 

.
.
.
.
.