Sports

खेल डैस्क : इंडियन प्रीमियर लीग के नए सीजन में कोलकाता नाइट राइडर्स अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पा रही है। क्रिकेट फैंस फ्रेंचाइजी द्वारा लगातार प्लेइंग-11 में फेरबदल पर सवाल कर रही है। इस दौरान मामला तब और चर्चा में आ गया जब कोलकाता के कप्तान श्रेयस अय्यर ने कहा कि चयन प्रक्रिया में कोलकाता टीम के सीईओ भी दखल देते हैं। अय्यर का यह बयान आने के बाद पूर्व क्रिकेटर अजय जडेजा की कड़ी प्रतिक्रिया आई है। उन्होंने कहा कि वह ऐसी टिप्पणियों से हैरान नहीं हैं क्योंकि केकेआर के सीईओ वेंकी मैसूर को टीम के संचालन में शामिल होने के लिए जाना जाता है।

 

यह भी पढ़ें:- काऊंटी चैम्पियनशिप : चलते मैच में स्कूटर लेकर पिच पर आया युवा, खेल रुका

 

जडेजा ने कहा कि इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है। अगर टीम जीतती है तो सीईओ को प्रशंसा मिलती है और यदि हारती है तो सीईओ इसके लिए जिम्मेदार हैं। हमेशा ऐसा रहा है, हमने पहले भी इसके स्पष्ट होने के उदाहरण देखे हैं। प्रत्येक की अपनी राय है। कुछ लोग सोचते हैं कि उन्हें इसमें शामिल नहीं होना चाहिए। कुछ लोग सोचते हैं कि कोच को भी इसमें शामिल नहीं होना चाहिए, यह कप्तान की कॉल होनी चाहिए। कुछ लोग यह भी सोचते हैं कि कप्तान को रहने दो, आप नहीं जानते कि वह वहां होगा या नहीं, इसलिए सीईओ को चीजें तय करने दें।

 

यह भी पढ़ें:-  Keiron Pollard अब पहले जैसे प्लेयर नहीं रहे... कैरेबियाई दिग्गज को Wasim Jaffer की खरी-खरी

 

जडेजा ने कहा कि बड़े अंतरराष्ट्रीय खिलाडिय़ों को यह बताना काफी मुश्किल होगा कि उन्हें बाहर किया जा रहा है। ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट कप्तान पैट कमिंस को शुरूआती मैचों में विफलता के बाद बाहर बिठा दिया गया था। जडेजा ने इसपर कहा कि एक खिलाड़ी के लिए यह बताना काफी मुश्किल हो जाता है कि वह नहीं खेलेगा। खासकर अगर वह खिलाड़ी दुनिया का सबसे अच्छा गेंदबाज हो। कम से कम अब हम जानते हैं कि सीईओ इस टीम को चलाता है न कि कप्तान।

 

यह भी पढ़ें:- उमरान या नटराजन कौन है IPL में बैस्ट? शोएब अख्तर ने दिया जवाब

.
.
.
.
.