Sports

नई दिल्ली : रॉयल चैंलेजर्स बेंगलुरु के बल्लेबाज एरोन फिंच ने आखिरकार सीजन के 7वें मैच में बल्लेबाजी करते हुए कुछ विश्वास दिखाया। फिंच ने 37 गेंदों में चार चौके और एक छक्के की मदद से 47 रन बनाए। उन्होंने कहा- मुझे लगता है कि आखिर की कुछ पारियों में मैं यहां नहीं था। न मेरा सिर और ही मेरी बॉडी। यहां आकर सबसे पहले मैंने अपने सिर को गेंद की लाइन में लाने की कोशिश की। जैसे-जैसे गेंद नरम होती गई, वैसे-वैसे थोड़ा आसान होता गया। उन्होंने कटर और धीमी गेंदों को फेंका इस कारण बड़ा हिट लगाना मुश्किल हो गया।

वहीं, एबी डीविलियर्स की बल्लेबाजी पर बोलते फिंच ने कहा- वह एक विशेष बल्लेबाज है, वह एक ऐसा आदमी है जो बिना कुछ किए पार्क के चारों ओर इस तरह से मार सकता है कि उसकी बाहर मौजूदगी विपक्ष पर दबाव डालने में कामयाब हो जाती है। वह पिच को आसान बनाता है। शायद मुझे एक समय में आगे आना चाहिए था। हमने सोचा था कि इस मैदान पर 180 एक अच्छा स्कोर है, लेकिन हमने 194 रन बनाए जोकि प्रतिस्पर्धी टोटल है।

फिंच ने कहा- टी-20 एक ऐसा खेल है, जहां बेहतरीन गेंदें भी बाउंड्री के पार जाती हैं। वहीं, कोहली के साथ बल्लेबाजी पर उन्होंने कहा- वह हमेशा हमें आगे रखते हैं। यह हमेशा बाऊंड्री मारने के बारे में नहीं है। सिंगल लेना, डबल लेना हमेशा से बॉलरों पर प्रैशर डालने में काम आता है। और यही बात स्कोर को बनाए रखने में मदद करता है। उन्होंने ऐसा किया। मेरा काम उनका साथ निभाना था। 

.
.
.
.
.