Sports

नयी दिल्ली : विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता जमुना बोरा ने रविवार को कजाखस्तान की अनेल साकिश को हराकर कजाखस्तान के नूर सुल्तान में चल रहे एलोर्डो कप के फाइनल में जगह बनाई। असम की जमुना ने स्थानीय मुक्केबाज के खिलाफ शानदार प्रदर्शन करते हुए 54 किग्रा भार वर्ग के सेमीफाइनल में सर्वसम्मत फैसले से जीत दर्ज की।

जमुना के अलावा तीन अन्य भारतीय मुक्केबाज कलाइवानी श्रीनिवासन (48 किग्रा), गितिका (48 किग्रा) और अल्फिया (81 किग्रा से अधिक) भी सोमवार को फाइनल में खेलेंगे। जमुना ने गति और फुटवर्क का शानदार नजारा पेश करते हुए अनेल के खिलाफ दबदबा बनाया और विरोधी मुक्केबाज को कई दमदार मुक्के जड़े। 

दूसरे दौर में भी भारतीय मुक्केबाज हावी रही। जमुना ने समर्पण और धैर्य की बदौलत आसान जीत की नींव रखी और फाइनल में जगह बनाई। दो महिला मुक्केबाज साक्षी (54 किग्रा) और सोनिया (57 किग्रा) को हालांकि सेमीफाइनल में उज्बेकिस्तान की निगिना उकतामोवा और सितोरा तुर्दिबेकोवा के खिलाफ क्रमश: 0-5 और 2-3 से शिकस्त झेलनी पड़ी।

पुरुष वर्ग में चार भारतीय मुक्केबाजों को सर्वसम्मति से सेमीफाइनल में हार का सामना करना पड़ा। कुलदीप (48 किग्रा) और जुगनू (92 किग्रा) को कजाखस्तान के मुक्केबाजों क्रमश: असिलबेक जेलिलोव और एबेक ओरलबे ने हराया जबकि अनंत को चीन के फैंग बो ने बाहर का रास्ता दिखाया।

सचिन (57 किग्रा) ने 2021 विश्व चैंपियनशिप के रजत पदक विजेता कजाखस्तान के सेरिक तेमिरझानोव को कड़ी टक्कर दी लेकिन अंतत: उन्हें हार झेलनी पड़ी। शनिवार रात गतिका और अल्फिया ने फाइनल में जगह बनाई। गितिका ने उज्बेकिस्तान की मारजोना सेवरिएवा को 4-1 से हराया जबकि अल्फिया ने कजाखस्तान की वालेरिया एक्सेनोवा के खिलाफ दबदबा बनाया और रैफरी को दूसरे दौर के बीच में ही मुकाबला रोकना पड़ा।

एलोर्डा कप के पहले टूर्नामेंट में भारत, उज्बेकिस्तान, मेजबान कजाखस्तान, क्यूबा, चीन और मंगोलिया जैसे देशों के शीर्ष मुक्केबाज हिस्सा ले रहे हैं। टूर्नामेंट के चैंपियन मुक्केबाजों को 700 अमेरिकी डॉलर जबकि रजत और कांस्य पदक विजेताओं को क्रमश: 400 और 200 डॉलर दिए जाएंगे।

.
.
.
.
.