Cricket

जालन्धर: लॉर्ड्स के मैदान पर इंगलैंड की जीत में बढिय़ा भूमिका उस ओवर थ्रो की भी मानी गई जिसके चलते इंगलैंड आखिरी ओवर में मैच टाई कराने में सफल रहा था। दरअसल न्यूजीलैंड के प्लेयर की एक थ्रो रनिंग कर रहे बेन स्टोक्स के बल्ले से टकराकर बाऊंड्री पार चली गई थी। अंपायर ने नियम अनुसार इस गेंद पर छह रन (2 रनिंग से + 4 बाऊंडी से) दे दिए। इस वाक्ये पर बैन स्टोक्स ने मैच खत्म होने के बाद न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन से माफी मांगी। 

बेन स्टोक्स ने मैन ऑफ द मैच बनने के बाद कहा- हमारी साझेदारी के दौरान गेंद मेरे बल्ले से लगकर बाऊंड्री पार चार रन के लिए चली गई थी। मैं इसके लिए न्यूजीलैंड के कप्तान विलियमसन से माफी मांगता हूं। स्टोक्स ने इस दौरान हंसते हुए कहा कि मैं निश्चित तौर पर आगे आखिरी ओवर नहीं खेलूंगा।  यह शानदार है, बिना साथियों, परिवार के समर्थन के अविश्वसनीय है।

वहीं, अपनी जुझारू पारी पर स्टोक्स ने कहा कि यह बहुत अच्छी थी। मैं शब्द नहीं ढूंढ पा रहा हूं। इन 4 सालों के दौरान जो भी हार्डवर्क हुआ और इसपर जिस तरह अमल किया गया वह सचमें अकल्पनीय है। सभी के समर्थन के लिए सभी का धन्यवाद। हम सिर्फ जोस बटलर के साथ साझेदारी के दौरान बात करते रहे जिससे रन रेट दूर नहीं हुआ। इसी चीज ने हमें फायदा दिया।

उधर, सोशल मीडिया पर स्टोक्स वाले घटनाक्रम को बैट ऑफ गॉड के नाम से क्रिकेट फैंस ने वायरल किया। आईसीसी के इस नियम पर पूर्व भारतीय ऑलराऊंडर युवराज सिंह भी निराश दिखे। उन्होंने अपने एक ट्विट में इस पर निराश भी दिखाई।

.
.
.
.
.