Sports

खेल डैस्क : इंस्टाग्राम लाइव पर साथी खिलाडिय़ों संग बातचीत के दौरान जातिसूचक शब्द इस्तेमाल करने वाले भारतीय क्रिकेटर युवराज सिंह पर कोर्ट ने सख्ती दिखाई है। हांसी में दर्ज मामले के बाद युवराज सिंह जांच में शामिल हो गए। पुलिस ने उनकी गिरफ्तारी दिखाकर जांच आगे बढ़ा दी है। मामले में युवराज सिंह पहले ही हाईकोर्ट से अग्रिम जमानत ले चुके  है। कोर्ट ने युवराज सिंह को आदेश दिए थे कि वह हांसी में दर्ज मामले की जांच के लिए पुलिस का सहयोग करें। युवराज इसके लिए पंजाब एंड हरियाणा हाइकोर्ट के आदेशों पर हिसार की जिओ मैस पहुंचे थे। उनके साथ उनके सुरक्षाकर्मी सहित चार-पांच लोगों का स्टाफ चंड़ीगढ़ से हिसार पहुंचा।

Yuvraj Singh, Arrested, casteist words, Bail, cricket news in hindi, sports news, Yuvi, युवराज सिंह, जातिसूचक शब्द, Yuzi chahal

युवराज सिंह ने खुद हाइकोर्ट में अनुसूचित जाति से संबंधित टिप्पणी की बात स्वीकारी थी, लेकिन उन्होंने कहा था कि उन्हें इस बारे में नहीं पता था कि यह शब्द बोलना गलत है। किसी की भावना आहत करने के लिए ऐसा नहीं कहा था। पूछताछ के बाद हाईकोर्ट के आदेशों पर युवराज सिंह को औपचारिक जमानत पर छोड़ दिया। अब ये मामला कोर्ट में विचाराधीन है। 

यह है मामला
हांसी के वकील रजत कालसन ने कोर्ट में पिटीशन दारयर की थी कि युवराज सिंह ने अपनी साथियों के साथ इंस्टाग्राम लाइव पर एससी समुदाय पर टिप्पणी की थी। इसके बाद युवराज सिंह को धारा 153 ए के तहत बुक किया गया था। इस मुकदमे को खारिज कराने के लिए युवराज सिंह ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी जिस पर हाईकोर्ट ने युवराज को अग्रिम जमानत के आदेश दिए थे।

Yuvraj Singh, Arrested, casteist words, Bail, cricket news in hindi, sports news, Yuvi, युवराज सिंह, जातिसूचक शब्द, Yuzi chahal

इससे पहले युवराज सिंह के वकील पुनीत बाली ने कोर्ट में कहा था कि उक्त बातचीत दोस्तों के बीच हुई थी। इसका मकसद किसी समुदाय की भावनाओं को ठेस पहुंचाना नहीं था। उनके क्लाइंट शैड्यूल कास्ट या शैड्यूल ट्राब्स के खिलाफ ऐसी सोच नहीं रखता। इस शब्द का इस्तेमाल केवल नशे में धुत व्यक्ति के संदर्भ में किया गया था।

.
.
.
.
.