Sports

विशाखापत्तनम: दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट में भारत की जीत में अहम भूमिका निभाने वाले सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने रविवार को कहा कि उसका काम खास तरीके से खेलना है जैसे कि टीम उनसे उम्मीद करती है। सलामी बल्लेबाज के रूप में अपने पहले ही टेस्ट में 32 साल के रोहित ने दोनों पारियों में शतक जड़ते हुए 176 और 127 रन बनाए जिससे भारत ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट में 203 रन से जीत दर्ज की। 

PunjabKesari
मुंबई के इस बल्लेबाज ने मैन आफ द मैच पुरस्कार हासिल करने के बाद कहा, ‘यहां मेरा काम खास तरीके से खेलना है, वे मेरे से यही उम्मीद करते हैं। और मैं ऐसा करने का प्रयास करता रहूंगा।' सीमित ओवरों के क्रिकेट में भारत के उप कप्तान रोहित ने कहा कि लंबे प्रारूप में पारी का आगाज उनके लिए हैरानी भरी चीज नहीं थी क्योंकि कुछ साल पहले ही उन्हें बता दिया गया था कि उन्हें ऐसा मौका मिल सकता है। रोहित ने कहा, ‘कुछ साल पहले ही मुझे बता दिया गया था कि एक दिन मैं शायद पारी का आगाज कर सकता हूं। यहां तक कि नेट्स पर भी मैं नई गेंद से अभ्यास करता था। मैं यह नहीं कहू्ंगा कि यह हैरानी भरा था।' 

PunjabKesari
रोहित ने आगे कहा, ‘दूसरी पारी में मुझे कुछ शाट खेलने का प्रयास करना पड़ा। यह काम कर गया लेकिन शायद यह काम नहीं भी करता। गेंदबाज आजकल काफी चालाक हो गए हैं लेकिन मैंने अपने ऊपर भरोसा किया और किस्मत भी बहादुरों का साथ देती है।' रोहित ने अपनी इस पारी के दौरान कई रिकार्ड बनाए। वह सलामी बल्लेबाज के रूप में अपने पहले ही टेस्ट में दो शतक जड़ने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बने। 

.
.
.
.
.