Sports

मेनचेस्टर : वेस्टइंडीज की क्रिकेट टीम जब इंगलैंड के खिलाफ पहला टेस्ट खेलने उतरेगी तो वह दुनिया में कोविड-19 की समस्या के साथ-साथ नस्लवाद के खिलाफ अभियान छेड़ेगी। दरअसल वैस्टइंडीज टीम के प्लेयर तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में ‘ब्लैक लाइव्स मैटर’ लोगो वाली टी-शर्ट पहनेगी। ‘ब्लैक लाइव्स मैटर’ का लोगो वेस्ट इंडीज के क्रिकेट खिलाडिय़ों की टी-शर्ट के कॉलर पर लगा होगा।

Windies team united against disease, increased from covid-19

वेस्टइंडीज के टेस्ट कप्तान जैसन होल्डर ने कहा था कि वेस्टइंडीज किसी भी तरह के नस्लभेद के खिलाफ आंदोलन का समर्थन करेगा। उन्होंने कहा- हम मानते हैं कि एकजुटता दिखाना और जागरूकता बढ़ाने में मदद करना हमारा कर्तव्य है। इसी तरह की लोगो वाली टी-शर्ट इस महीने की शुरुआत में फिर से शुरू हुई प्रीमियर लीग के सभी 20 फुटबॉल क्लबों की टीमों के खिलाडिय़ों ने पहनी थी। ‘ब्लैक लाइव्स मैटर’ लोगों को ग्राफिक्स डिजाइनर अलीशा होसान्ना ने तैयार किया है, जिनके पार्टनर ट्रॉय डेनी वाटफोर्ड फुटबॉल क्लब के कप्तान हैं।

नस्लवाद को क्रिकेट में अपराध घोषित करें : होल्डर

Windies team united against disease, increased from covid-19
इंडीज तेज गेंदबाज जेसन होल्डर ने कल कहा था कि डोपिंग और मैच फिक्सिंग की तरह नस्लवाद को भी क्रिकेट में अपराध घोषित किया जाना चाहिए। वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम के दिग्गज खिलाड़ी क्रिस गेल और डेरेन सैमी ने इस महीने के शुरू में कहा था कि उन्हें भी अपने करियर में नस्लभेद का सामना करना पड़ा था। दोनों खिलाडिय़ों ने नस्लवाद के खिलाफ दुनिया भर में ‘ब्लैक लाइव्स मैटर’ नाम से चल रहे अभियान को अपना समर्थन दिया है।

.
.
.
.
.