Sports

क्राइस्टचर्च: टीम इंडिया एक बार फिर कागजी शेर साबित हुई जिसे न्यूजीलैंड की अनुशासित टीम ने दूसरे और अंतिम टेस्ट में तीन दिन के भीतर सोमवार को यहां सात विकेट से हराकर श्रृंखला में 2-0 से क्लीनस्वीप किया। ऐसे में न्यूजीलैंड के कप्तान वेन विलियमसन ने टेस्ट सीरीज जीतने के बाद जीत का श्रेय पूरी टीम के दिया। 

PunjabKesari
विलियमसन ने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘यह शानदार प्रदर्शन था लेकिन जैसा कि मैंने कहा कि इस नतीजे से यह पता नहीं चलता है कि मैच कितना प्रतिस्पर्धी था। भारत ने अगर 50 रन और बनाए होते तो यह मुकाबला बराबरी का लगता।'' उपमहाद्वीप से उलट यहां दोनों टेस्ट मैचों की पिच से गेंद और बल्ले के बीच बराबरी का मुकाबला था जहां रन बनाना थोड़ा मुश्किल था। उन्होंने कहा, ‘पिच के लिहाज से दोनों मैचों में गेंद और बल्ले का बराबरी का मुकाबला था और रन बनाना आसान नहीं था।

PunjabKesari
आपको थोड़ी किस्मत का साथ चाहिए था और गेंदबाज पर दबाव बनाने की कोशिश करनी चाहिए। पिछले दो मैचों में टीम के खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन किया।' विलियमसन ने हालांकि माना कि यहां पिच तेज गेंदबाजों के ज्यादा मुफीद थी। उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है दोनों पिचें तेज गेंदबाजों के लिए ज्यादा मददगार थी। ऐसी परिस्थितियों में भी वेलिंगटन में जिस तरह से हमने पहली पारी में बल्लेबाजी कर प्रतिस्पर्धी स्कोर बनाया वह देखना शानदार था।'

 

 

 

 

 

 

 

 

सीरी

.
.
.
.
.