Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : भारत और पाकिस्तान एक बार फिर आईसीसी इवेंट में आमने सामने हैं। आगामी टी20 विश्वकप में दोनों ही टीमों को एक दूसरे के खिलाफ मैच खेलना है। भारत ने आईसीसी विश्व कप और टी20 विश्व में पाकिस्तान के साथ 12 बार मुकाबला किया है जिसमें हर बार पाकिस्तान की टीम को हार का मुंह देखना पड़ा है। जिस वजह से आईसीसी इवेंट्स में फैंस की नजरें भारत-पाकिस्तान मैच पर रहती है। इस पर पाकिस्तान के तेज गेंदबाज हसन अली ने बयान देते हुए कहा कि 2017 के चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल की तरह ही भारत को टी20 विश्वकप में हरा देंगे। 

हसन अली ने एक बयान में कहा कि जब हमने साल 2017 में चैंपियंस ट्रॉफी जीती तो वह हमारे लिए बहुत अच्छा समय था और हमारी कोशिश रहेगी की आगामी टी20 विश्वकप में दोबारा हराएंगे। हम अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करेंगे। भारत के खिलाफ मैच खेलना हमेशा से ही दबाव भरा रहा है। क्योंकि दोनों ही देशों के फैंस उम्मीदें काफी बढ़ जाती हैं। इस वजह से काफी दबाव बढ़ जाता है और व्यूअरशिप में भी काफी इजाफा होता है। यूएई की पिच काफी स्पिन फ्रेंडली होती है। पर बतौर एक तेज गेंदबाज विविधता के साथ हम असरदार हो सकते हैं।

PunjabKesari

हसन अली ने कहा कि मैं टी20 विश्व कप के आने के साथ कोचिंग स्टाफ को बदलते हुए देखकर निराश था। लेकिन यह हमारा काम नहीं है, यह पीसीबी का काम है। हमारी भूमिका निभाना है। विक्की भाई (वकार यूनिस) मेरे आदर्श हैं और मैंने उनकी वजह से गेंदबाजी करना शुरू किया।

गौर हो कि भारत और पाकिस्तान के बीच टी20 विश्व कप का मुकाबला 24 अक्तूबर को खेला जाना है। इस मैच पर पूरे क्रिकेट जगत की नजरें होंगी क्योंकि जब भारत और पाकिस्तान पिछली बार किसी आईसीसी इवेंट में एक दूसरे के सामने आए थे तो भारत ने बड़ी आसानी से पाकिस्तान को हरा दिया था। भारत उसी प्रदर्शन को एक बार फिर दोहराना चाहेगा और पाकिस्तान के खिलाफ विश्वकप में ना हारने वाली प्रथा को जीवित रखना चाहेगा।

.
.
.
.
.