T20-world-cup-2021
Sports

नई दिल्ली : आस्ट्रेलिया और चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) के तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड ने इस इंडियन प्रीमियर ली (आईपीएल) सत्र में ज्यादा विकेट नहीं चटकाये हैं लेकिन हमवतन शेन वाटसन को लगता है कि उसकी गेंदबाजी का सामना करना काफी मुश्किल होता है क्योंकि वह गेंद पर नियत्रंण बनाए रखता है। हेजलवुड (30 वर्ष) ने इस आईपीएल चरण में आठ मैचों में केवल नौ विकेट चटकाए हैं। उन्होंने रविवार को आईपीएल के पहले क्वालीफायर में दिल्ली कैपिटल्स पर मिली चार विकेट की जीत में अहम भूमिका निभाई थी। हालांकि वह टूर्नामेंट में इतना शानदार प्रदर्शन नहीं कर पाए हैं।

वाटसन ने कहा कि उसके हाथ से निकलने वाली गेंद पर उसका नियत्रंण ही शानदार होता है, इसलिए अगर विकेट पर जरा भी ओस होती है या फिर नयी गेंद होती है तो वह विकेट से कुछ न कुछ हासिल करने में काफी बेहतरीन है। थोड़े से वैरिएशन या फिर विकेट से कुछ हासिल करने में या फिर हवा में कुछ मदद का मतलब है कि उसे इन परिस्थितियों में भी खेलना काफी मुश्किल होता है।

पूर्व आस्ट्रेलियाई आलराउंडर ने कहा कि हेजलवुड में गेंद पर नियंत्रण के मामले में महान तेज गेंदबाज ग्लेन मैकग्रा जैसी ही समानता है। सीएसके के पूर्व खिलाड़ी वाटसन ने कहा कि हेजलवुड की ऊंगली से निकलने वाली गेंद पर नियंत्रण कुछ ऐसा ही है जैसा ग्लेन मैकग्रा का होता था। गेंद कितनी स्विंग होनी चाहिए या फिर किस तरीके से गेंद सीम होगी, उनके (मैकग्रा) के पास जो नियत्रंण था, वह जोश में तब से है जब वह युवा था। हेजलवुड में मैकग्रा जैसी समानता है। 

.
.
.
.
.