Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : वर्ल्ड एंटी डोपिंग एजेंसी (WADA) ने भारत को बड़ा झटका देते हुए अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप नहीं पाए जाने बाद नेशनल डोप टेस्टिंग लेबोरेटरी (NDTL) को निलंबित कर दिया है। नेशनल डोप टेस्टिंग लेबोरेटरी को छह महीने के लिए निलंबित किया गया है। वाडा के खिलाफ अपील करने के लिए नाडा के पास 21 दिनों का समय है। गौर हो कि टोक्यो ओलंपिक में एक वर्ष से भी कम का समय रह गया है। 

वाडा ने अपनी वेबसाइट पर मीडिया विज्ञप्ति जारी कर कहा कि वाडा के निरीक्षण के दौरान एनडीटीएल को प्रयोगशालाओं के लिए तय अंतरराष्ट्रीय मानकों (आईएसएल) के अनुरूप नहीं पाया गया, जिसके कारण उसे निलंबित किया गया है। इस मामले में भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ने राष्ट्रीय डोपिंग निरोधक एजेंसी को दोषी ठहराते हुए कहा कि नाडा की गलतियों ने देश में डोपिंग निरोधक कार्यक्रम का मार्ग अवरुद्ध कर दिया है। 

आईओए अध्यक्ष नरिंदर बत्रा ने कहा कि अब हमें रुपयों की बजाय डॉलर में भुगतान करना होगा। मुझे चिंता इस बात की है कि अतिरिक्त लागत कौन वहन करेगा। बत्रा ने कहा कि पिछले एक साल से वाडा बार-बार एनडीटीएल की टेस्ट पद्धतियों की कमियां गिना रहा था जिस पर नाडा ने कुछ नहीं किया। वहीं इस मामले में नाडा के महानिदेशक नवीन अग्रवाल की तरफ से अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है। 

.
.
.
.
.