Sports

स्पोटर्स डेस्क (अतुल वर्मा): साल 1983 के उस ऐतिहासिक पल को भला कौन याद नहीं करना चाहेगा। जब लॉर्ड्स की बालकनी से पहली बार क्रिकेट वर्ल्ड कप की ट्रॉफी उठाकर कपिल देव ने गर्व का पल देते हुए भारत में क्रिकेट क्रांति ला दी थी। 1983 वर्ल्ड कप के ऐतिहासिक फाइनल मैच में वेस्टइंडीज को हराकर पहली बार भारत को क्रिकेट का वर्ल्ड चैंपियन बनाने वाले पूर्व भारतीय दिग्गज कप्तान कपिल देव का आज जन्मदिन है। 6 जनवरी 1959 को चंडीगढ़ में जन्में ‘हरियाणा हरिकैन’ के नाम से मशहूर हुए कपिल देव का क्रिकेट करियर बेहद शानदार रहा। भारतीय क्रिकेट के पहले सुपरस्टार और भारत के सबसे बेहतरीन आलराउंडर रहे कपिल देव ने अपने दौर में ना केवल टेस्ट और वनडे क्रिकेट में कई उम्दा रिकॉर्ड बनाए, बल्कि भारतीय क्रिकेट को बुलंदियों पर भी पहुंचाया। वहीं इन तमाम उपलब्धियों के साथ-साथ उनका क्रिकेट करियर मजेदार किस्सों से भी भरा रहा, तो चलिए, कपिल देव के जन्मदिन पर जानिए उनसे जुड़े कुछ मजेदार किस्से:-

1983 वर्ल्ड कप जीतने के बाद उधार की शैम्पेन से मनाया था जश्न

Kapil Dev

कपिल देव की कप्‍तानी में 1983 के वर्ल्‍ड कप में मिली जीत जितनी यादगार थी, उतना ही जीत का जश्‍न भी यादगार था। उस दौरान वेस्टइंडीज के कप्तान क्‍लाइव लॉयड को पूरी उम्‍मीद थी कि उनकी टीम ये वर्ल्ड कप जरूर जीतेगी। भारत के शुरुआती स्कोर के मद्देनजर वेस्टइंडीज की टीम प्रबंधन ने अपनी जीत पक्की समझते हुए जश्‍न के लिए ढेर सारी शैम्पेन मंगवाई थी, लेकिन उस वक्त उनका वर्ल्‍ड कप जीतने का सपना सिर्फ सपना ही रह गया। देश को पहला वर्ल्ड चैंपियन बनाने के बाद भारतीय कप्‍तान कपिल देव वेस्‍टइंडीज के ड्रेसिंग रूप में खिलाड़ियों से हाथ मिलाने गए, तो वहां सन्‍नाटा पसरा था। कपिल देव को वहां शैम्पेन की बहुत सारी बोतलें पड़ी दिखी तो उन्होंने क्‍लाइव लॉयड से कहा कि हमने जश्‍न के लिए शैम्पेन नहीं मंगवाई हैं। क्‍या मैं आपके कमरे से शैम्पेन की कुछ बोतलें ले जा सकता हूं। क्‍लाइव ने भी उनको इनकार नहीं किया और बोतलें ले जाने का इशारा किया। उसके बाद कपिल देव ने पूरी टीम के साथ उधार की शैम्पेन से ही जीत का जश्‍न मनाया।

अपने क्रिकेट के दिनों में अंग्रेजी का ‘कत्ल’ करते थे कपिल देव

Kapil Dev

साल 1983 का कपिल देव का एक किस्सा बहुत मजेदार है। अहमदाबाद टेस्ट में कपिल देव ने शानदार गेंदबाजी कर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था। दुनियाभर से पत्रकार कपिल देव का इंटरव्यू करने पहुंचे थे। प्रेस कॉन्फ्रेंस में तमाम पत्रकारों ने एक-एक कर अंग्रेजी में सवाल किए कि इतनी बड़ी जनसंख्या वाला देश आखिर दूसरा कपिल देव क्यों पैदा नहीं कर पाया, क्यों कपिल देव जैसा दूसरा कोई भारतीय तेज गेंदबाज पैदा नहीं हुआ? एक के बाद एक अंग्रेजी में आते सवालों के बाउंसर के घबराए कपिल देव ने सारा कॉन्फिडेंस जुटाते हुए अंग्रेजी भाषा में मजेदार जवाब दिया। उन्होंने कहा, ‘लेडिज एंड जैंटलमैन, माय मम्मी इज 62 ईयर्स ओल्ड एंड माय पापा इज डेड, यू कॉन्ट प्रोड्यूस अनैदर कपिल देव। इस मजेदार अंग्रेजी को सुनकर वहां मौजूद नवजोत सिंह सिद्धू ने भी खूब ठहाके लगाए थे।

ट्रेन में एक लड़की को अपने अंदाज में कर दिया था कपिल देव ने प्रपोज

Kapil Dev

ये किस्सा तब का है, जब एक दिन कपिल देव ट्रेन में सफर कर रहे थे। ट्रेन में मौजूद एक लड़की (रोमी) कपिल देव को इतना भा गई कि उन्होंने मन ही मन फैसला कर लिया था कि वो उस लड़की को ही अपना हमसफर बनाएंगे। कपिल ने फैसला तो कर लिया, लेकिन वो उस मौके के इंतजार में थे, जब वो रोमी को अपने दिल की बात बता सकें। तभी ट्रेन एक खूबसूरत जगह से गुजरने लगी। तभी मौका ना गंवाते हुए कपिल ने अपने अंदाज में रोमी को कहा- 'क्या तुम इस जगह की तस्वीर लेना चाहोगी, जो हम अपने बच्चों को दिखा सकें’। हालांकि रोमी को ये बात समझने में थोड़ी वक्त लगा, लेकिन जैसे ही उन्हें ये बात समझ में आई, उन्होंने कपिल को हां कर दी। इसके बाद साल 1980 में दोनों शादी के बंधन में बंधे थे।

दाउद इब्राहिम से भी नहीं डरे थे कपिल देव, लगा दी थी फटकार

Kapil Dev

ये वाक्य साल 1987 का है, जब शारजाह में होने वाले भारत-पाकिस्तान मैच से एक दिन पहले प्रैक्टिस के बाद भारतीय टीम ड्रेसिंग रूम में अपनी रणनीति बना रही थी, तब बॉलीवुड एक्टर महमूद ड्रेसिंग रूम में दाऊद के साथ आए और खिलाड़ियों से उनका परिचय करवाते हुए कहा कि ये हमारे मित्र हैं और यहीं बिजनेस करते हैं। दरअसल तब दाऊद की पहचान इतनी ज्यादा नहीं थी कि हर कोई उसे जानता। महमूद ने कहा कि हमारे मित्र आप सभी को एक ऑफर देना चाहते हैं। इसके बाद दाऊद ने कहा, ‘अगर कल होने वाले मैच में आप पाकिस्तान को हरा देते हैं तो मैं सभी खिलाड़ियों को एक-एक टोयोटा कोरोला कार गिफ्ट करूंगा’। तभी कपिल देव वहां आए और महमूद से बाहर जाने को कहा। दाऊद की ओर इशारा करते हुए भी कहा, ये कौन है, चल बाहर निकल। इसके बाद दाऊद चुपचाप बाहर चला गया। बस, तभी से कपिल देव और दाऊद के बीच हुआ ये वाक्य ‘शारजाह ड्रेसिंग रूम कांड’ के नाम से मशहूर हो गया।

अंधविश्वास के कारण बल्लेबाजी करते 'मुसीबत' में भी फंसे थे कपिल देव

Kapil Dev

अंधविश्वास के एक किस्से को खुद कपिल देव ने लोगों से साझा करते हुए बताया था कि जब मैं शुरुआत में क्रिकेट खेलता तो बायां पैड पहले पहनता था और दायां पैर पहले मैदान पर रखता था। इतना ही नहीं डर के चलते मैं गले में भगवान शिव की एक पतली चेन भी पहनता था, लेकिन एक मैच मैंने जब एक शॉट खेला तो मेरा बल्ला चेन से छू गया, जिसकी आवाज भी आई। बस, तभी गेंदबाज ने आउट की अपील कर डाली, लेकिन अंपायर ये देख चुके थे और उन्होंने मुझे आउट नहीं दिया। फिर मैंने राहत की सांस ली और मैच के बाद वो चेन उतारते हुए फैसला किया कि अब सिर्फ खुद पर ही विश्वास करूंगा और अंधविश्वास में कतई नहीं पड़ूंगा।

कपिल देव पर बनने जा रही है फिल्म, रणवीर सिंह बनाएंगे भूमिका

Kapil Dev

1983 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया की जीत के हीरो रहे कपिल देव पर अब फिल्म भी बनने जा रही है। उनकी जबरदस्त उपलब्धियों और शानदार क्रिकेट करियर के चलते फिल्म निर्देशक कबीर खान फैंटम फिल्म्स के बैनर तले उन पर बॉयोपिक फिल्म बना रहे हैं। जिसमें अभिनेता रणवीर सिंह उनकी भूमिका निभाते हुए जल्द ही बड़े पर्दे पर नजर आएंगे।

दिग्गजों ने अपने-अपने अंदाज में कपिल देव को दी जन्मदिन की शुभकामनाएं

Madan Lal Tweet

Virender Sehwag Tweet

Yuvraj Singh Tweet

VVS Laxman Tweet

.
.
.
.
.