T20-world-cup-2021
Sports

नई दिल्ली : हो सकता है कि भारत टी20 विश्व कप फाइनल के एक हफ्ते से भी कम समय बाद न्यूजीलैंड के खिलाफ शुरू होने वाली टी20 श्रृंखला के दौरान अपने ज्यादातर सीनियर खिलाड़ियों को विश्राम दे। उम्मीद है कि घरेलू सरजमीं पर न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन टी20 मैचों में एक युवा टीम मैदान पर उतरेगी जिसमें ज्यादातर इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में शानदार प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी होंगे। भारत को 17, 19 और 21 नवंबर को क्रमश: जयपुर, रांची और कोलकाता में तीन टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने हैं। इसके बाद कानपुर (25 नवंबर से) और मुंबई (तीन दिसंबर से) में दो टेस्ट मैच खेले जाएंगे।

शीर्ष भारतीय खिलाड़ी जैसे कप्तान विराट कोहली, उप कप्तान रोहित शर्मा और तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह जून में साउथम्पटन में विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के शुरू होने के बाद से ही ‘बायो-बबल' में रह रहे हैं। इसमें से इंग्लैंड में जैविक रूप से सुरक्षित वातावरण काफी कम बंदिशों वाला था, जिससे मैनचेस्टर में पांचवां टेस्ट भारतीय खेमे में कोविड-19 मामले आने के कारण रद्द कर दिया गया था। चयन समिति में इन घटनाक्रम की जानकारी रखने वाले सूत्र ने कहा कि ज्यादातर भारतीय खिलाड़ी, सीनियर खिलाड़ी पिछले चार महीनों में लगातार तीन ‘बायो-बबल' में रहे हैं। 

संभावना है कि टी20 विश्व कप के बाद आप चाहोगे कि वे विश्राम लेकर दिसंबर के अंत में शुरू होने वाले दक्षिण अफ्रीका दौरे से पहले तरोताजा हो जाएं। यह पहले से ही तय है कि कोहली, बुमराह और मोहम्मद शमी जैसे खिलाड़ियों को विश्राम दिया जाएगा। यहां तक कि रोहित भी इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू श्रृंखला के बाद से लगातार खेल रहे हैं, उन्हें भी विश्राम की जरूरत होगी लेकिन कोहली के टी20 कप्तानी पद से हटने के बाद यह देखना होगा कि कार्यभार प्रबंधन इस स्थिति से कैसे निपटता है। 

ऐसी स्थिति में संक्षिप्त दौरे के लिए रूतुराज गायकवाड़, हर्षल पटेल, आवेश खान और वेंकटेश अय्यर को आजमाया जा सकता है। इस बात को लेकर अटकलों का दौर जारी है कि न्यूजीलैंड श्रृंखला के दौरान राहुल द्रविड़ अंतरिम कोच होंगे। निर्वतमान रवि शास्त्री का कार्यकाल इस महीने टी20 विश्व कप के साथ ही खत्म हो रहा है। 

हालांकि राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी प्रमुख द्रविड़ को अगले साल होने वाले अंडर-19 विश्व कप के लिये खाका भी तैयार करना होगा बीसीसीआई (भारतीय क्रिकेट बोर्ड) को भरोसा है कि वे समय पर नया कोच नियुक्त कर देंगे। इससे पहले उन्हें मदन लाल को क्रिकेट सलाहकार समिति से हटाना होगा क्योंकि वह 70 से ज्यादा उम्र के हैं और लोढा समिति की सिफारिशों के अनुसार उम्र संबंधित पांबदियां अनिवार्य हैं। 

.
.
.
.
.