Sports

नई दिल्ली: रविचंद्रन अश्विन को हाल के दिनों में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में भले ही उतार चढ़ाव के दौर से गुजरना पड़ा हो लेकिन सचिन तेंदुलकर का मानना है कि यह आफ स्पिनर अब भी राष्ट्रीय टीम का अहम अंग है। अश्विन ने अब तक 65 मैचों में 342 विकेट लिए हैं लेकिन जब उपमहाद्वीप से बाहर खेलने की बात आती है तो तब अंतिम एकादश में उनके बजाय रविंद्र जडेजा को प्राथमिकता मिलती है। यह 33 वर्षीय गेंदबाज दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विशाखापत्तनम में दस महीने बाद राष्ट्रीय टीम की तरफ से खेलेंगे। 

PunjabKesari
तेंदुलकर ने कहा, ‘अश्विन अग्रणी गेंदबाज है और उसने केवल गेंद से नहीं बल्कि बल्ले से भी उपयोगी योगदान दिया है। इसलिए मेरा मानना है कि वह इस भारतीय टीम का अहम अंग है और इसमें कोई संदेह नहीं है।' उन्होंने कहा, ‘प्रत्येक के करियर में उतार चढ़ाव लगे रहते हैं। अश्विन लंबे समय से टीम के साथ है और उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया है और निरंतरता दिखायी है। मेरे लिए अश्विन इस भारतीय टीम के सबसे महत्वपूर्ण सदस्यों में से एक है।' तेंदुलकर ने आगामी श्रृंखला में भारत को जीत का दावेदार बताया लेकिन साथ ही आगाह किया कि उसके लिए जीत दर्ज करना आसान नहीं होगा। उन्होंने कहा, ‘निश्चित तौर पर भारत का जीत का दावेदार होगा। लेकिन अगर हम यह सोचते हैं कि यह आसान श्रृंखला होगी तो यह गलती होगी। हां दक्षिण अफ्रीका को अगर बराबरी की टक्कर देनी है तो उन्हें अच्छी बल्लेबाजी करनी होगी।' 

.
.
.
.
.