Sports

नई  दिल्ली:  कोरोना संकट को देखते हुए ऑस्ट्रेलिया में 18 अक्टूबर से 15 नवंबर के बीच होने वाला टी20 वर्ल्ड कप टल सकता है। हालांकि अभी तक कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है, लेकिन ICC के सूत्रों की मानें तो कोरोना संकट को देखते हुए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कल होने वाली बैठक में इस फैसले पर मुहर लग सकती है। कोविड-19 महामारी के कारण बनी परिस्थितियों में अगर इसे औपचारिक रूप दे दिया जाता है तो इस फैसले से सदस्यों को आगामी महीनों के लिये अपनी द्विपक्षीय श्रृंखलाओं का खाका तैयार करने में मदद मिलेगी।

 

PunjabKesari

 

टी20 विश्व कप के आयोजन की संभावनाएं बहुत कम
आईसीसी बोर्ड के एक अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर कहा, ‘‘इसकी पूरी संभावना है कि गुरुवार को होने वाली बैठक के दौरान टी20 विश्व कप को स्थगित करने का फैसला किया जाए। लेकिन सवाल यह है कि वहां औपचारिक घोषणा की जाएगी या नहीं। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘वर्तमान परिस्थितियों में टी20 विश्व कप के आयोजन की बहुत कम संभावनाएं है। मुझे नहीं लगता कि क्रिकेट आस्ट्रेलिया या अन्य शीर्ष क्रिकेट बोर्ड को इससे परेशानी होगी। ’’ 15 मई की अपनी रिपोर्ट में कहा था कि क्रिस टेटले की अगुवाई वाली आईसीसी प्रतियोगिता समिति कई विकल्प सामने रखेगी और इसमें एक विकल्प यह हो सकता है कि सदस्य आस्ट्रेलिया में होने वाले टूर्नामेंट को अक्टूबर – नवंबर 2022 तक स्थगित कर सकते हैं जबकि भारत 2021 में पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार टी20 विश्व कप की मेजबानी करेगा।

PunjabKesari

साल के आखिर में भारत करेगा आस्ट्रेलिया का दौरा
इसका यह भी निष्कर्ष निकाला जा सकता है कि भारत इस साल के आखिर में आस्ट्रेलिया का दौरा करेगा क्योंकि सदस्य देश महामारी के कारण पैदा हुए वित्तीय संकट से उबरने के लिए द्वपिक्षीय श्रृंखलाओं को प्राथमिकता दे सकते हैं। बोर्ड के सदस्य ने यह भी कहा कि यह केवल सदस्य देशों से ही नहीं बल्कि प्रसारक स्टार स्पोर्ट्स से जुड़ा मुद्दा भी है जिसके पास संयोग से आईसीसी प्रतियोगिताओं के साथ साथ भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) और आईपीएल के भी प्रसारण अधिकार हैं। बीसीसीआई प्रसारण करार से जुड़े एक सूत्र ने कहा, ‘‘कुछ सवाल है जिन पर गौर करने की जरूरत है। इनमें फरवरी-मार्च 2021 में टी20 विश्व कप के आयोजन की व्यावसायिक व्यावहार्यता है।

PunjabKesari

पांच मैचों की टेस्ट श्रृंखला के लिए भारत आएगा इंग्लैंड
इससे पहले अक्टूबर-नवंबर में आईपीएल का आयोजन फिर अगला आईपीएल मार्च से मई के बीच आयोजित करना शामिल है। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘इस तरह से हम छह महीने के अंदर तीन बड़ी प्रतियोगिताओं के आयोजन पर ध्यान दे रहे हैं। ’’ उन्होंने उन द्विपक्षीय श्रृंखलाओं का जिक्र किया जिन पर बीसीसीआई सहमति जताएगा। सूत्र ने कहा, ‘‘भारत निश्चित तौर पर आस्ट्रेलिया जाएगा और इंग्लैंड पांच मैचों की टेस्ट श्रृंखला के लिए भारत आएगा। जहां तक दक्षिण अफ्रीका में टी20 श्रृंखला का सवाल है तो यह दक्षिण अफ्रीका को फैसला करने दो कि जहां तक आईसीसी के नीतिगत मामले हैं, उनमें उसकी स्थिति क्या है। ’’
 

कोविड-19 की स्थिति पर निर्भर करेगा आईपीएल का आयोजन
आईपीएल का आयोजन भारत में उस समय कोविड-19 की स्थिति पर निर्भर करेगा। केंद्र सरकार स्थिति को सामान्य करने की कोशिश कर रही है और ऐसे में यह टूर्नामेंट पांच सप्ताह के अंदर आयोजित किया जा सकता है। आईसीसी बोर्ड भारत में होने वाले टी20 विश्व कप 2021 में करों के छूट के मसले पर भी चर्चा कर सकता है। बीसीसीआई ने लॉकडाउन के कारण इस पर सरकार का स्पष्ट रवैया जानने के लिए और समय देने के लिए कहा है। आईसीसी के नये चेयरमैन के लिये नामांकन प्रक्रिया जल्द ही शुरू होगी। इंग्लैंड एंव वेल्स क्रिकेट बोर्ड के पूर्व चेयरमैन कोलिन ग्रेव्स को इस पद का प्रमुख दावेदार माना जा रहा है लेकिन बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली भी इसकी दौड़ में शामिल हो सकते हैं।

.
.
.
.
.