Sports

अबुधाबी : चेन्नई सुपर किंग्स के मुख्य कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने स्वीकार किया कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के मौजूदा सत्र के शुरुआती मैचों के दौरान टीम ने बल्लेबाजी संयोजन बनाने में संघर्ष किया जिसकी वजह से वे पहली बार प्लेऑफ में पहुंचने में नाकाम रहे। टीम के सबसे भरोसेमंद बल्लेबाज सुरेश रैना निजी कारणों से आईपीएल से पहले ही टीम से हट गए थे जबकि पिछले तीनों मैच में अर्धशतक लगाने वाले युवा रूतुराज गायकवाड़ कोविड-19 से संक्रमित होने के कारण शुरुआती मैच नहीं खेल पाये थे। 

फ्लेमिंग ने रविवार को किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ अपने आखिरी लीग मैच को नौ विकेट से जीतने के बाद कहा- हमें टीम संयोजन बनाने में चुनौती का सामना करना पड़ा। खिलाडिय़ों के टीम छोडऩे और कोविड-19 से संक्रमित होने के कारण हमें निराशा हुई और हमने टीम संयोजन बनाने के लिए संघर्ष किया।

फ्लेमिंग ने 14 मैचों में 12 अंक के साथ टीम के अभियान के पूरा होने के बाद कहा- हमने पहले मैच में अच्छा किया उसके बाद दो मैच में अच्छा नहीं कर सके। उन दो मैचों से सामने आई खामियों को हम भरने की कोशिश करते रहे लेकिन उसने काम नहीं किया।

प्लेमिंग ने कहा- भारतीय बल्लेबाजों की कमी के कारण हमने संघर्ष कि और हम उस कमी को अंतरराष्ट्रीय खिलाडिय़ों से भरने की कोशिश करते रहे। फ्लेमिंग ने गायकवाड़ की तारीफ करते हुए कहा कि यह युवा दाएं हाथ का बल्लेबाज चेन्नई और भारतीय क्रिकेट का भविष्य है। उन्होंने कहा- वह (गायकवाड़) बड़ा खिलाड़ी है। हम कोविड-19 से संक्रमित होने के कारण शुरूआती मैचों में उसे मैदान पर नहीं उतार सके। हम जानते थे कि वह कितना अच्छा है।

.
.
.
.
.