Sports

नई दिल्ली : ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर चुके भारतीय स्टीपलचेज एथलीट अविनाश साबले 10 अप्रैल से 20 जुलाई तक यूंगाडा में ट्रेनिंग करेंगे जिन्हें खेल मंत्रालय ने इसके लिए अनुमति दे दी है। भारतीय एथलेटिक्स महासंघ (एएफआई) द्वारा भेजे गए प्रस्ताव को खेल मंत्रालय द्वारा मंजूरी मिलने के बाद 26 साल के साबले विदेशी कोच एडी रूइटर के मार्गदर्शन में ट्रेनिंग करेंगे जो यूगांडा के जोशुआ चेपटेगई जैसे एथलीटों को कोचिंग दे चुके हैं। चेपटेगई के नाम पुरूष 5000 मीटर और 10,000 मीटर का मौजूदा विश्व रिकार्ड है।

कीनिया, मोरक्को और यूगांडा देशों का स्टीपलचेज स्पर्धा में दबदबा है। एएफआई ने साबले के अपने कोच अमरीश कुमार के साथ यूगांडा में 100 दिन के ट्रेनिंग कार्यक्रम के लिये वित्तीय सहायता मुहैया कराने के लिये मंत्रालय को प्रस्ताव भेजा था। मंत्रालय ने कहा- खेल मंत्रालय ने 10 अप्रैल से 20 जुलाई, 2021 तक यूगांडा के कापचोरवा/टेरयेट में ऊंचे क्षेत्र में होने वाले 100 दिन के ट्रेनिंग शिविर के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। 

साबले ने अक्टूबर 2019 में दोहा में हुई एथलेटिक्स विश्व चैम्पियनशिप फाइनल में 3000 मीटर स्टीपलचेज स्पर्धा में तोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया था। उन्हें नवंबर 2018 में ‘टारगेट ओलंपिक पोडियम स्कीम’ में शामिल किया गया था, उन्हें ट्रेनिंग के लिए अभी तक कुल 16,58,656 रुपए की राशि दी जा चुकी है। साबले इस समय बेंगलुरू के भारतीय खेल प्राधिकरण केंद्र में ट्रेनिंग ले रहे हैं।

.
.
.
.
.