Sports

शंघाई : फीफा ने अपने विस्तारित 24 टीमों के क्लब विश्व कप के पहले टूर्नामेंट की मेजबानी चीन को सौंपी है जो 2021 में होगा। फुटबाॅल की वैश्विक संस्था फीफा के अध्यक्ष जियानी इनफेंटिनो ने गुरुवार को इसे ‘एतिहासिक फैसला' करार दिया। फीफा के इस फैसले को फुटबाल की दुनिया में चीन के बढ़ते रुतबे के तौर पर देखा जा सकता है और यह अंतत: देश के अकेले दम पर फीफा विश्व कप की मेजबानी का रास्ता साफ कर सकता है।

इनफेंटिनो ने शंघाई में फीफा परिषद की बैठक के बाद यह घोषणा की। यह परिषद फुटबाल की वैश्विक संस्था की फैसले करने वाली इकाई है। इस फैसले का मतलब है कि दुनिया के कुछ शीर्ष क्लब और उनके बड़े स्टार खिलाड़ी दो साल में चीन में खेलते हुए नजर आएंगे। इनफेंटिनो ने जून में कहा था कि उनके नए क्लब विश्व कप से 50 अरब डालर तक की व्यावसायिक आय हो सकती है। उन्होंने हालांकि यह नहीं बताया कि कितने सत्र में यह कमाई होगी। क्लब विश्व कप के अगले सत्र का आयोजन 2020 में कतर में होगा जिसमें सात टीमें हिस्सा लेंगी। 

.
.
.
.
.