Sports

लीड्स : श्रीलंका के कप्तान दिमुथ करूणारत्ने ने कहा कि घरेलू और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के अंतर को कम करने के लिए उनके देश को भारत की तरह मजबूत घरेलू संरचना की जरूरत है। श्रीलंका आठ मैचों में से केवल 8 अंकों के साथ आईसीसी विश्व कप के खिताबी दौड़ से बाहर हो गया है और कप्तान ने कहा कि बदलाव के दौर में टीम को दमदार खिलाड़ी नहीं मिल पा रहे क्योंकि उनका घरेलू क्रिकेट भारत की घरेलू संरचना की तरह मजबूत नहीं है।

भारत के खिलाफ अपने आखिरी लीग मैच की पूर्व संध्या पर करूणारत्ने ने कहा- मुझे लगता है कि अगर आप अन्य देशों को देखें तो वे बहुत ज्यादा क्रिकेट खेलते है, जैसे कि भारत में आईपीएल और दूसरे घरेलू टूर्नामेंट, यह वास्तव में अच्छा है। कप्तान ने कहा- श्रीलंका में केवल एक घरेलू टूर्नामेंट है अगर आप उसमें अच्छा करते है तो राष्ट्रीय टीम में जगह बनाते है और जब आप अंतरराष्ट्रीय मुकाबला खेलते है तब घरेलू मुकाबले की तुलना में काफी अंतर पैदा हो जाता है।

करुणारत्ने चाहते है कि अधिक से अधिक श्रीलंकाई क्रिकेटर विभिन्न फ्रेंचाइजी लीग में खेलें। उन्होंने कहा- हमें उस अंतर को कम करना होगा और हमें ज्यादा क्रिकेट खेलना होगा। खिलाडिय़ों को आईपीएल, बीबीएल या इंग्लिश काउंटी लीग (टी-20) में खेलने का मौका देना चाहिए। विश्व कप के बाद ये वो चीजें हैं जिनकी मुझे क्रिकेट बोर्ड से उम्मीद है।

.
.
.
.
.