Sports

नयी दिल्ली : खेल मंत्रालय ने पूर्व भारतीय फुटबॉलर मनितोम्बी सिंह के परिवार के वित्तीय संकट को कम करने के लिये शुक्रवार को पांच लाख रुपये के अनुदान को मंजूरी दी। डिफेंडर मनितोम्बी का लंबी बीमारी के बाद अगस्त में इंफाल में निधन हो गया था। वह 39 वर्ष के थे। उनके परिवार में माता-पिता, पत्नी और आठ साल बेटा है। परिवार पूरी तरह से उनकी कमाई पर ही निर्भर था।

मोहन बागान के पूर्व खिलाड़ी मनितोम्बी सिंह ने 2002 में वियतनाम में एलजी कप में भारत का प्रतिनिधित्व किया था। वह 2002 बुसान एशियाई खेलों में भी टीम का हिस्सा थे।

खेल मंत्री किरेन रीजीजू ने इस फैसले के बारे में कहा- मनितोम्बी ने भारतीय फुटबॉल में अहम योगदान दिया। उन्होंने मणिपुर के कोच के रूप में भी योगदान दिया। जब हमें पता चला कि उनके निधन के बाद उनका परिवार वित्तीय संकट से जूझ रहा है तो उनकी मदद करना कर्तव्य बन जाता है। यह अनुदान खिलाड़ियों के लिये पंडित दीनदयाल उपाध्याय राष्ट्रीय कल्याण कोष के तहत मंजूर किया गया।

.
.
.
.
.