Sports

स्पोर्ट्स डेस्क: दिल्ली के यमुना पार इलाके में नागरिकता संशोधन क़ानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन लगातार दूसरे दिन हिंसक हो गया है.हिंसा में एक पुलिसकर्मी और एक प्रदर्शनकारी की मौत हुई है। ऐसे में क्रिकेटर से सांसद बने टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने दिल्ली के आम आदमी से शांति की अपील के साथ-साथ उपद्रवियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की। जिसके बाद आईपीएल के पूर्व चेयरमैन शुक्ला ने उनके बयान की जमकर तारीफ की।  

Extremely sad to hear about the death of Senior Police Constable Shri Ratan Lal during violent anti CAA protests.There is no scope for violence in democratic protests. I request everyone to maintain peace and urge @DelhiPolice to take strict action against the culprits. pic.twitter.com/1PobrXWKka

— Gautam Gambhir (@GautamGambhir) February 24, 2020

दरअसल, गंभीर ने ट्विटर पर एक तस्वीर शेयर करते हुए कैप्शन लिखा था कि हिंसक विरोधी सीएए विरोध प्रदर्शन के दौरान वरिष्ठ पुलिस कांस्टेबल श्री रतन लाल की मौत के बारे में सुनकर बहुत दुख हुआ। लोकतांत्रिक विरोध प्रदर्शनों में हिंसा की कोई गुंजाइश नहीं है। मैं सभी से शांति बनाए रखने और आग्रह करने का अनुरोध करता हूं @DelhiPolice दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें।

गौतम गम्भीर का बयान स्वागत योग्य है उन्होंने भाजपा नेता कपिल मिश्रा के ख़िलाफ़ भड़काऊ बयानबाज़ी के लिए कड़ी कार्यवाही की माँग की है यह एक खिलाड़ी की सच्ची भावना है हमें गौतम जैसे नेताओं की ज़रूरत है@GautamGambhir

— Rajeev Shukla (@ShuklaRajiv) February 25, 2020

वही आईपीएल के पूर्व चैयरमैन राजीव शुकला ने ट्वीट करते हुए लिखा, गौतम गम्भीर का बयान स्वागत योग्य है उन्होंने भाजपा नेता कपिल मिश्रा के ख़िलाफ़ भड़काऊ बयानबाज़ी के लिए कड़ी कार्यवाही की माँग की है यह एक खिलाड़ी की सच्ची भावना है हमें गौतम जैसे नेताओं की ज़रूरत है..... 


PunjabKesari
गौरतलब है कि पूर्वोत्तर दिल्ली के कुछ इलाकों में मंगलवार को फिर से हिंसा हुई जहां भीड़ ने पथराव किया और बंद दुकानों में तोड़फोड़ की। पूर्वोत्तर दिल्ली में तनाव व्याप्त है। एक दिन पहले ही, संशोधित नागरिकता कानून को लेकर हुई हिंसा में एक हेड कॉन्स्टेबल सहित सात लोगों की जान जा चुकी है। 

 

.
.
.
.
.