Sports

ब्रिस्बेन : इंग्लैंड के टेस्ट कप्तान जो रूट ने सोमवार को दोहराया कि उन्होंने यॉर्कशर में नस्लवाद की किसी घटना को महसूस नहीं किया है, लेकिन वह इसका आरोप लगाने वाले अजीम रफीक के संपर्क में हैं। रफीक ने हाल ही में संसदीय समिति के समक्ष पेश होकर उनके साथ हुए भेदभाव के बारे में गवाही दी थी। 

यहां मीडिया को संबोधित करते हुए रूट ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एशेज सीरीज के बाद रफीक के साथ इस मुद्दे पर चर्चा होगी। रूट ने कहा, ‘हमने हाल ही में कुछ संदेशों का आदान-प्रदान किया है। मुझे उम्मीद है कि जब हम इस दौरे को खत्म करेंगे तो साथ बैठकर इस पूरी स्थिति के बारे में बात करने का अवसर मिलेगा।' 

रूट हालांकि पहले के दावे पर कायम रहे कि उन्होंने रफीक के साथ कभी कोई नस्लवादी व्यवहार होता नहीं देखा। उन्होंने कहा, ‘नहीं, मैंने जो पहले कहा, मैं उस पर कायम हूं।' रूट ने कहा, ‘मुझे उन घटनाओं के बारे में नहीं पता है। यह एक ऐसा मामला है जिससे हम सभी को सीखना होगा।' 
 

.
.
.
.
.