Sports

नई दिल्ली : टीम इंडिया के बैटिंग कोच संजय बांगड़ दोबारा इस पद पर न चुने जाने से इतना निराश थे कि उन्होंने सिलेक्टर्स के कमरे में जाकर जमकर बहस की। पिछले करीब पांच साल से टीम इंडिया के साथ काम कर रहे बांगड़ को बीसीसीआई ने भरोसे की कमी के चलते बल्लेबाजी कोच के पद से हटाया था। अब खबर आई है कि खुद को कोचिंग से हटाए जाने से बांगड़ इतने ज्यादा निराश थे कि दो सप्ताह पहले उन्होंने सिलेक्टर्स के रूम में खूब हंगामा किया था। 
बांगड़ के हंगामे के बारे में खुलासा करते हुए एक अंग्रेजी अखबार ने लिखा है कि दो सप्ताह पहले बांगड़ नेशनल सिलेक्टर देवांग गांधी के कमरे में गए और बल्लेबाजी कोच पद से हटाने पर नाराजगी जताई। बताया जा रहा है कि तब टीम इंडिया के बाकी कोचों के लिए इंटरव्यू चल रहा था। बांगड़ ने देवांग के कमरे का दरवाजा खटखटाया और बाद में सिलेक्शन कमेटी को खूब सुनाया भी।
बताया जा रहा है कि बांगड़ ने इस दौरा यह भी चेतावनी दी कि अगर उन्हें हटाया गया तो पूरी टीम उनके पीछे खड़ी हो जाएगी। हालांकि इस दौरान बांगड़ ने यह भी कहा कि अगर उन्हें कोच नहीं बनाना तो उन्हें नेशनल क्रिकेट अकादमी में भेज दें। वहीं, संजय बांगड़ की इस हरकत से बीसीसीआई के अधिकारी खुश नहीं बताए जा रहे हैं। इस संबंधी में सीए प्रमुख विनोद राय को भी बता दिया गया है। 
 

.
.
.
.
.