Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : बेंगलुरु सेंट्रल क्राइम ब्रांच (सीसीबी) ने कर्नाटक प्रीमियर लीग (केपीएल) में सट्टेबाजी और अवैध रूप से खिलाड़ियों से संपर्क करने के मामले में मशहूर ड्रमर भावेश बाफना को गिरफ्तार किया है। भावेश तमिलनाडु प्रीमियर लीग (टीएनपीएल), केपीएल और आईपीएल की टीम राॅयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए ड्रम प्ले करता है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की एंटी करप्शन यूनिट (एसीयू) द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर सीसीबी ने ये कार्रवाई की है। 

PunjabKesari

जानकारी के मुताबिक दिल्ली और मुंबई के सट्टेबाजों के लिए भावेश बाफना बिचौलिए का काम करता था। इसी के साथ ही ये जानकारी भी सामने आई है कि केपीएल के एक मैच के दौरान भावेश ने एक गेंदबाज को एक ओवर में 10 से अधिक रन देने के बदले मोटी रकम देने का लालच भी दिया था। इतना ही नहीं आईपीएल में शामिल कराने का लालच देकर भावेश ने एक खिलाड़ी को खराब खेलने के लिए भी कहा था। सीसीबी ने 26 साल के तेज गेंदबाज भावेश गुलेचा की शिकायत पर भावेश और संयम के खिलाफ मामला दर्ज किया है। भावेश से मिली जानकारी के आधार पर अब सीसीबी दिल्ली के एक सट्टेबाज संयम की तलाश में है जिसके कहने पर भावेश खिलाड़ी को सट्टेबाजी का प्रस्ताव देता था। 

PunjabKesari

गौर हो कि इससे पहले केपीएल की टीम बेलगावी पैंथर्स के मालिक अशफाक अली थारा को सट्टेबाजी में शामिल करने के आरोप में गिरफ्तार किया जा चुका है। अगस्त में कर्नाटक प्रीमियर लीग के मुकाबलो में सट्टेबाजी की जानकारी सामने आने के बाद सीसीबी ने कई क्रिकेटरों और कोचिंग स्टाफ के सदस्यों से पूछताछ की थी। फिलहाल सीसीबी को केपीएल में मैच फिक्सिंग से जुड़ा कोई सबूत नहीं मिला है। 

.
.
.
.
.