Sports

स्पोर्ट्स डेस्क: दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बुधवार से यहां शुरू हो रहे पहले क्रिकेट टेस्ट में भारत इस उम्मीद के साथ उतरेगा कि सीमित ओवरों के क्रिकेट में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले रोहित शर्मा अपनी इस फार्म को टेस्ट क्रिकेट में सलामी बल्लेबाज के रूप में दोहरा पाएंगे। ऐसे में पहले टेस्ट से पहले टीम इंडिया के टेस्ट उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे का मानना है कि विंडीज दौरा बीते हुए कल की बात हो चुकी है और अब उनका ध्यान बुधवार से दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ होने वाली सीरीज टेस्ट सीरीज पर है।  

PunjabKesari
मीडिया से बातचीत के दौरान उपकप्तान ने कहा, 'मेरे लिए यह जरूरी था कि मैं अपनी सीमा में रहूं और अपनी क्षमताओं पर विश्वास करूं। यह सब इससे जुड़ा था कि मैं मुश्किल परिरिस्थितियों में खुद को मानिसक रूप से कैसे मैनेज करता हूं, ताकि मैं टीम में अपना योगदान दे सकूं।' टेस्ट सीरीज में मेजबान भारत को दावेदार माना जा रहा है। लेकिन रहाणे का मानना है कि दक्षिण अफ्रीकी टीम भी सम्मान की हकदार है। उन्होंने कहा, 'यह महत्वपूर्ण है कि हम सीरीज जीतें, क्योंकि विश्व टेस्ट चैंपियनशिप शुरू हो चुकी है। आप किसी भी टीम को हल्के से नहीं ले सकते। दक्षिण अफ्रीका में भी टेम्बा बावुमा, एडेन मार्करम जैसे अच्छे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने अभ्यास मैच में अच्छा किया है।'

.
.
.
.
.