Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : ऑस्ट्रेलिया में खेले गए चार मैचों की टेस्ट सीरीज के अंतिम मैच के आखिरी दिन विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत (89) ने शानदार विजयी पारी खेलते हुए भारत को 2-1 से सीरीज जीताने में मदद की। पंत ने संवादाताओं से बात करते हुए कहा कि पूर्व क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी से तुलना होने पर अच्छा लगता है। लेकिन साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि वह नहीं चाहते कि लोग उनकी तुलना करें क्योंकि वह खेल में अपना नाम बनाना चाहते हैं। 

मंगलवार को गाबा में खेले गए चौथे टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 328 रन का लक्ष्य दिया था। चौथे दिन 4 रन बनाने के बाद अंतिम दिन भारत के सामने एक दिन में 324 रन बनाने की चुनौती थी। लेकिन शुभमन गिल (91), चेतेश्वर पुजारा (56) और पंत की बदौलत भारत ने ना सिर्फ 3 विकेट से मैज जीता बल्कि सीरीज 2-1 से जीतकर बाॅर्डर गावस्कर ट्राॅफी पर कब्जा किया। इस ऐतिहासिक जीत ने बाद बीसीसीआई ने भारतीय टीम के लिए 5 करोड़ के कैश बोनस का भी ऐलान किया। 

पंत ने ऑस्ट्रेलिया दौरे से लौटने के बाद संवाददाताओं से कहा, मैं बहुत खुश हूं कि हमने ट्रॉफी बरकरार रखी। पूरी टीम बहुत खुश है। विकेटकीपर बल्लेबाज ने कहा, अच्छा लगता है जब आपकी तुलना एमएस धोनी जैसे किसी व्यक्ति से की जाती है लेकिन मैं नहीं चाहता कि लोग तुलना करें। मैं भारतीय क्रिकेट टीम में अपना नाम बनाना चाहता हूं। केवल यही एक चीज है जिस पर मैं केंद्रित हूं। इसके अलावा, यह अच्छा नहीं है कि आप एक युवा खिलाड़ी के साथ एक लीजेंड की तुलना करें।

 

गौर हो कि पहले टेस्ट में 36 पर आउट होने के बाद भारत को 8 विकेट से हार का सामना करना पड़ा था। इसके बाज कार्यवाहक कप्तान के रूप में अजिंक्य रहाणे ने भारतीय टीम की कमान संभाली और दूसरे मैच में टीम इंडिया ने जीत दर्ज करते हुए सीरीज में 1-1 से बराबरी की। तीसरा मैच टाई होने के बाद भारत अंतिम टेस्ट में नए खिलाड़ियों के साथ उतरा और ऐतिहासिक जीत दर्ज की। 

.
.
.
.
.