T20-world-cup-2021
Sports

दुबई : दिल्ली कैपिटल्स के कोच रिकी पोंटिंग का मानना है कि पिछले कुछ सत्र में युवा कप्तान ऋषभ पंत की परिपक्वता का स्तर ‘काफी बढ़ा' है और वह ताबड़तोड़ बल्लेबाज से टीम का नेतृत्वकर्ता बनकर उभरे हैं। नियमित कप्तान श्रेयस अय्यर के कंधे की चोट के कारण इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2021 के पहले चरण से बाहर होने के बाद 23 वर्षीय पंत को दिल्ली कैपिटल्स का नेतृत्व करने की जिम्मेदारी दी गई थी। क्रिकेट के सर्वकालिक महान खिलाड़ियों में शामिल पोंटिंग ने मंगलवार को कहा कि पंत की परिपक्वता का स्तर पिछले दो सत्र में काफी बढ़ा है।

दिल्ली कैपिटल्स के इस मुख्य कोच ने कहा कि जब मैं पहली बार टीम से जुड़ा था तो वह नए खिलाड़ी थे। मैंने कहा था कि वह ऐसे खिलाड़ी होने जा रहे हैं जो लंबे समय तक भारत के लिए खेलेंगे। मैं भारत की हर टीम में जगह बनाने की उसकी ललक को महसूस कर सकता था। भारतीय टीम से उन्हें बाहर करने के लिए बहुत बेहतर खिलाड़ी की जरूरत होगी। श्रेयस की कप्तानी में टीम पिछले सत्र में उपविजेता रही थी लेकिन पोंटिंग को उम्मीद है कि पंत के नेतृत्व में टीम इस बार एक कदम और आगे बढ़ेगी। 

उन्होंने कहा कि उन्होंने अब तक (आईपीएल में टीम का नेतृत्व करते हुए) शानदार काम किया है। हम सभी कुछ खास के लिए प्रयास कर रहे हैं। इस साल हम एक कदम और आगे जाना चाहते हैं और ऋषभ इसमें अहम भूमिका निभाने जा रहे हैं। पोंटिंग ने टूर्नामेंट के मौजूदा सत्र के पहले चरण में श्रेयस के चोटिल होने के बाद पंत को कप्तान बनाने का समर्थन किया था। कोविड-19 के कारण लीग के बीच में रुकने से पहले उनके नेतृत्व में टीम आठ मैचों में छह जीत के साथ तालिका में शीर्ष पर थी। लीग के दूसरे चरण में टीम को अपने शुरुआती मुकाबले में बुधवार को सनराइजर्स हैदराबाद का सामना करना है। 

इस मैच की पूर्व संध्या पर पंत ने कहा कि टीम के खिलाड़ियों को पिछले सत्र की तुलना में 10 से 15 प्रतिशत अधिक मेहनत करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि हम (टीम) इस साल पिछली बार से बेहतर हैं। हम दो-तीन साल से इस प्रक्रिया पर ध्यान दे रहे हैं। हमें इस सत्र में पिछले साल से अलग तरीके से बहुत अधिक काम नहीं करना है। हम वही काम जारी रखते हुए 10-15 प्रतिशत अतिरिक्त जोर लगा सकते हैं। पोंटिंग श्रेयस के टीम में वापस आने से खुश हैं, जिससे बल्लेबाजी और मजबूत होगी। उन्होंने कहा कि मैं उसे टीम में वापस पाकर खुश हूं। वह दिल्ली के लिए एक असाधारण खिलाड़ी रहा है, एक विश्व स्तरीय खिलाड़ी। यह हमारी टीम को थोड़ा और मजबूत करता है। 

.
.
.
.
.