Sports

एकातेरिनबर्ग : एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता अमित पंघाल (52 किलो), राष्ट्रमंडल खेलों के रजत पदक विजेता मनीष कौशिक (63 किलो) और संजीत (91 किलो) ने मंगलवार को पुरूषों की विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया। पंघाल ने पहले विश्व चैम्पियनशिप पदक की ओर कदम बढाते हुए तुर्की के बातूहान सीफ्की को हराया। वहीं कौशिक ने चौथी वरीयता प्राप्त मंगोलिया के चिंजोरिग बातारसुख को मात दी।

संजीत ने दूसरी वरीयता प्राप्त उजबेकिस्तान के संजार तुर्सुनोव को 3.2 से हराकर बड़ा उलटफेर किया। तुर्सुनोव ने पिछली विश्व चैम्पियनशिप में कांस्य और एशियाई चैम्पियनशिप में रजत पदक जीता था। पंघाल विश्व चैम्पियनशिप में दूसरी बार खेल रहे हैं जबकि कौशिक और संजीत की यह पहली विश्व चैम्पियनशिप है। तीनों भारतीय सेना के मुक्केबाज हैं। दूसरी वरीयता प्राप्त पंघाल ने 5.0 से जीत दर्ज की। अब उनका सामना फिलीपींस के कार्लो पालाम से होगा जो पिछले साल एशियाई खेलों के फाइनल में पंघाल से हार गए थे। पालाम ने कोरिया के जो सेहियोंग को हराया।

बुल्गारिया में स्ट्रांजा मेमोरियल टूर्नामेंट में दो बार स्वर्ण पदक जीत चुके पंघाल 2017 विश्व चैम्पियनशिप के क्वार्टर फाइनल में हार गए थे। पूर्व राष्ट्रीय चैम्पियन कौशिक का सामना अब ब्राजील के वांडेरसन डि ओलिवियरा से होगा। ओलिवियरा ने जापान के साइसुके नारिमत्सु को मात दी। पंघाल ने जीत के बाद कहा, ‘यह अच्छा मुकाबला था लेकिन मेरा सामना अनुभवी मुक्केबाज से था। मैं कल के मुकाबले के लिए तैयार हूं। मैं इस जीत को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को समर्पित करता हूं जिनका आज 69वां जन्मदिन है।' संजीत का सामना अब सातवीं वरीयता प्राप्त इक्वाडोर के जूलियो सेसा कैस्टिलो से टोरेस से होगा जिसने हंगरी के एडम हमोरी को मात दी। 

.
.
.
.
.