Sports

कराची: विश्व कप में प्रदर्शन को लेकर प्रशंसकों और आलोचकों के निशाने पर चल रही पाकिस्तान क्रिकेट टीम का पूर्व कप्तान मोइन अली ने समर्थन करते हुए कहा है कि खिताबी मुकाबले से लगभग बाहर हो चुकी 1992 की चैम्पियन टीम ने टूर्नामेंट में इतना बुरा प्रदर्शन नहीं किया। इंग्लैंड की भारत और न्यूजीलैंड पर जीत से सरफराज अहमद की टीम टूर्नामेंट से बाहर होने के कागार पर है। 

PunjabKesari
टीम को सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए बांग्लादेश के खिलाफ शुक्रवार को खेले जाने वाले ग्रुप चरण के मैच को 300 से अधिक रन से जीतना होगा। मोईन ने कहा,  ‘अगर हम बांग्लादेश के खिलाफ आखिरी मुकाबला जीत जाते है तो अपने अभियान का अंत नौ मैचों में पांच जीत के साथ करेंगे जिसमें से एक मैच बारिश की भेंट चढ़ गया। मेरे हिसाब से यह खराब प्रदर्शन नहीं है। ऐसे में पीसीबी को टीम को लेकर सावधानी से फैसला लेना होगा क्योंकि चेहरे और पर बदलने से कुछ नहीं होगा।' उन्होंने कहा, ‘टीम को भारत, ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज के खिलाफ बड़ी हार झेलनी पड़ी जिससे उनका नेट रन रेट प्रभावित हुआ।'

 

 

.
.
.
.
.