Sports

 

नई दिल्ली : आईएसएसएफ निशानेबाजी विश्वकप के मिक्सड टीम इवेंट में स्वर्ण पदक हासिल करने वाली भारतीय निशानेबाज अपूर्वी चंदेला ने शुक्रवार को कहा कि उनकी अगले साल होने वाले टोक्यो ओलंपिक के लिए तैयारियां सही दिशा में चल रही है। हाल ही में ब्राजील में संपन्न हुए आईएसएसएफ निशानेबाजी विश्वकप में बेहतरीन प्रदर्शन कर वापस लौटे भारतीय निशानेबाजों ने आज यहां भारतीय खेल प्राधिकरण मुख्यालय में खेल मंत्री किरेन रिजिजू से मुलाकात की।

अपूर्वी ने कहा, ‘हाल के टूर्नामेंटों में हमने अच्छा प्रदर्शन किया। एशियन चैंपियनशिप से पहले शिविर लगने की उम्मीद है जिससे हम यहां के माहौल में ढल सकें और मुझे उम्मीद है कि आने वाले टूर्नामेंटों में भी हम बेहतर करेंगे। ब्राजील का अनुभव हमें ओलंपिक और अन्य टूर्नामेंटों में काम आएगा। हमारा आत्मविश्वास इस जीत से बढ़ा है।' उन्होंने कहा, ‘हमने यहां अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन आगे के लिए हमें ऐसे ही मेहनत करनी होगी। इस बार मैंने मिक्सड में स्वर्ण जीता लेकिन एकल में सफल नहीं हो सकी। हालांकि मेरा प्रदर्शन इस साल बेहतर रहा है। मैंने इस वर्ष दो पदक जीते हैं और चीन में बहुत कम अंतर से पदक जीतने से चूक गयी थी। मैं फिलहाल अपने प्रदर्शन से संतुष्ट हूं लेकिन आगे के लिए और मेहनत करनी है।'

भारतीय निशानेबाजों के प्रदर्शन पर अपूर्वी ने कहा, ‘हमारा प्रदर्शन विश्वकप में शानदार रहा। हमने इस वर्ष चारों विश्वकप में बेहतरीन प्रदर्शन किया और हम आने वाले समय में भी अपना यह प्रदर्शन बरकार रखना चाहते हैं।' उन्होंने कहा कि मैंने अपने अनुभव से काफी कुछ सीखा है। अपूर्वी ने कहा, ‘मैंने 2008 में निशानेबाजी शुरु की थी और अब मुझे इसमें 11 वर्ष हो चुके हैं। इस दौरान कई उतार चढाव देखने को मिले लेकिन मैंने सिर्फ अपने प्रदर्शन पर ध्यान केंद्रित किया।'

उन्होंने कहा कि 2008 बीजिंग ओलंपिक के स्वर्ण पदक विजेता अभिनव बिंद्रा उनकी प्रेरणा हैं और उन्होंने बिंद्रा से प्रेरणा लेकर ही निशानेबाजी में आने का फैसला किया था। अपूर्वी ने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता को भी दिया और कहा कि वे हमेशा उनके साथ रहे और उनका समर्थन किया। अपूर्वी ने भारत सरकार और खेल मंत्री के खेल को बढ़ावा देने के प्रयास को भी सराहा और कहा कि इससे युवाओं को काफी मदद मिलेगी। 

.
.
.
.
.