Sports

स्पोर्ट्स डेस्क: विश्व कप के अहम मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच में शतकीय पारी खेल कर भारत को मैच जीताने में अहम भूमिका निभाने वाले सलामी बल्लेबाज शिखर धवन अपने अंगूठे में चोट के चलते विश्व कप में बाकी बचे मैचों से  बाहर हो गए हैं। ऐसे में उनकी जगह टीम में शामिल हुए ऋषभ पंत को लेकर उनके बचपन के क्रिकेट कोच तारक सिन्हा के ने कहा है कि पंत को विश्व कप के शुरु से ही टीम इंडिया में होना चाहिए था।

PunjabKesari
पंत के बचपन के क्रिकेट कोच तारक सिन्हा ने कहा है कि ऋषभ पंत ने पूरे साल बतौर विकेटकीपर के रुप में और बल्लेबाजी में बेहतरीन प्रदर्शन किया है। कोच के अनुसार पंत को विश्व कप के शुर में ही टीम में शामिल होना चाहिए था। चोट के चलते धवन के बाहर होने के बाद पंत को टीम में मौका मिला है, ऐसे में उन्हें मौके का पूरा फायदा उठाकर भारत को विश्व कप जिताना चाहिए। पंत को विश्व के शुरू से ही मौका मिलना चाहिए था लेकिन मैं यह नहीं चाहता था कि उन्हें शिखर धवन के चोट से बाहर होने पर मौका मिले।

PunjabKesari
कोच ने आगे कहा पंत में प्रतिभा की कोई कमी नही है और उन्हें मौके को भुनाकर अपने चयन को सही साबित करना होगा। ऋषभ पंत को कुछ सावधानी से खेलना चाहिए, क्योंकि उन्होंने जिस खिलाड़ी (शिखर धवन) की जगह टीम इंडिया में जगह हासिल की है। वह विश्व कप में सेंचुरी लगाने के सहित बेहतरीन प्रदर्शन कर खुद को साबित कर चुके हैं। पंत इंग्लैंड के हालात से काफी अच्छी तरह से वाकिफ है वह टेस्ट सीरीज मेंं इंग्लैंड के खिलाफ पिछले साल अच्छा प्रदर्शन कर चुके हैं। मुझे उम्मीद है कि पंत इस प्रदर्शन को विश्व कप में जारी रखेंगे।

.
.
.
.
.