Sports

 

बेंगलुरू : तोक्यो ओलंपिक के लिए तैयारियों में जुटे भारतीय हॉकी टीम के मिडफील्डर चिंग्लेनसाना सिंह को लगता है कि अगले कुछ महीने टीम के लिए अहम होंगे क्योंकि खिलाड़ी इस महासमर के लिए लय हासिल करने की कोशिश में जुटे हैं। कोविड-19 महामारी के बाद लगे पांच महीने के ब्रेक के बाद टीम को बेंगलुरू के भारतीय खेल प्राधिकरण केंद्र में चल रहे राष्ट्रीय कोचिंग शिविर में खेल गतिविधियां बहाल किये हुए तीन से ज्यादा हफ्ते हो गए हैं।

चिंग्लेनसाना ने कहा, ‘यह मेरे लिये व्यक्तिगत रूप से काफी मुश्किल दौर रहा क्योंकि मैंने चोट के कारण लंबे ब्रेक के बाद इस साल के शुरू में ही प्रतिस्पर्धी हॉकी में वापसी की थी, चोट के कारण मैं लगभग पूरे 2019 में नहीं खेल पाया था।' अर्जुन पुरस्कार हासिल कर चुके खिलाड़ी ने कहा कि वह तुरंत शीर्ष फार्म में आने के लिये खुद पर दबाव नहीं डाल रहे हैं और वह चीजों को धीरे धीरे ही आगे बढ़ा रहे हैं।

उन्होंने कहा, ‘हम साल के शुरू में जिस फार्म में थे, उसे हासिल करने में समय लगेगा (कम से कम दो से तीन महीने)। यह समय हमारे लिये काफी अहम होगा।' चिंग्लेनसाना ने कहा, ‘सबसे अच्छी बात है कि हमें साल के अंत तक कोई बड़ा टूर्नामेंट नहीं खेलना है जिससे हमें वैसी फार्म में हासिल करने के लिये काफी समय मिल जायेगा जैसे हम इस साल के शुरू में एफआईएच हॉकी प्रो लीग में थे।' 

.
.
.
.
.