Sports

पेरिस : फ्रेंच ओपन के फाइनल में पहुंच कर इतिहास रचने वाली पोलैंड की 19 साल की खिलाड़ी इगा स्वियातेक ने कहा कि उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि वह इस ग्रैंडस्लैम टेनिस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचेगी। स्वियातेक ने गुरुवार को सेमीफाइनल में अर्जेंटीना की क्वालीफायर नादिया पोदोरोस्का को 6-2 6-1 से शिकस्त दी।

फाइनल मे उनका सामना आस्ट्रेलियाई ओपन चैम्पियन सोफिया केनिन से होगा, जो पहली बार फ्रेंच ओपन के फाइनल में पहुंची है। स्वियातेक 1975 के बाद शुरू हुई डब्ल्यूटीए कम्प्यूटर रैंकिंग के बाद रोलां गैरां के महिला फाइनल में पहुंचने वाली सबसे निचली रैंकिंग की खिलाड़ी बन गई हैं। 

वह ओपन युग में सातवीं गैर वरीय खिलाड़ी हैं जो फ्रेंच ओपन के फाइनल में पहुंची हैं। यह उनका पहला मेजर फाइनल है। इस युवा खिलाड़ी ने कहा कि यह अविश्वसनीय लग रहा है। एकतरफ मुझे पता है कि मैं अच्छा टेनिस खेल सकती हूं, वहीं दूसरी तरफ यह मेरे लिए अश्चर्यचकित करने वाला है।

मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं फाइनल खेलूंगी। स्वियातेक ने कहा कि मैंने खुद पर भरोसा बरकरार रखा। यह मेरे लिए शानदार है। वह इस टूर्नामेंट में अपने सभी 12 सेट जीतने में कामयाब रही है। फाइनल के बारे में उन्होंने कहा कि  फाइनल में मैं ‘अंडरडॉग' की तरह रहूंगी। मैं अपने खेल पर पूरा ध्यान दे रही हूं। मेरी कोशिश विरोधी खिलाड़ी को सर्वश्रेष्ठ टेनिस नहीं खेलने देने की होती है।

.
.
.
.
.