Sports

मेलबर्न : 20 बार के ग्रैंडस्लैम चैम्पियन रफेल नडाल 7 महीने बाद पहला ग्रैंडस्लैम मैच ख्रेलने जा रहे हैं और बायें पैर की चोट के कारण पिछले सत्र के आखिरी हाफ में एक ही टूर्नामेंट खेल पाए लिहाजा आस्ट्रेलियाई ओपन से पहले प्रेस कांफ्रेंस में उनसे पूछने के लिए बहुत कुछ था लेकिन सवाल हुए तो नोवाक जोकोविच को लेकर जिससे वह ही नहीं अधिकांश खिलाड़ी उकता गए हैं। कोरोना का टीका नहीं लगवाने के कारण दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी जोकोविच का वीजा दूसरी बार रद्द कर दिया गया है।

नडाल से जब इस मसले पर पूछा गया तो उन्होंने कहा कि ईमानदार से कहूं तो मैं इस स्थिति से आजिज आ चुका हूं। यह शब्द और हाव भाव इस समय नडाल के ही नहीं बल्कि अधिकांश टेनिस खिलाड़ियों के हैं। आस्ट्रेलियाई ओपन एक खिलाड़ी से ज्यादा महत्वपूर्ण है। वह खेल रहा है तो अच्छी बात है लेकिन नहीं भी खेल रहा है तो यह बहुत बड़ा टूर्नामेंट है। वह खेले या नहीं खेले। 

स्पेन की दो बार की ग्रैंडस्लैम चैम्पियन गार्बाइन मुगुरूजा ने कहा कि  इन हालात से बचा जा सकता था अगर टीका लगवा लिया होता। हम सभी ने लगवाया है। आस्ट्रेलिया आने के लिये जो जरूरी है, वह करना चाहिए था। सभी को नियम पता हैं और उनका पालन करना जरूरी है। यूनान के स्टेफानोस सिटसिपास ने कहा कि इस समय इसी का चर्चा है। लोग इसके बारे में ही बात कर रहे हैं। मैं टेनिस के बारे में बात करने आया हूं। पिछले कुछ दिनों से टेनिस पर बात ही नहीं हो रही है जो शर्मनाक है। 

.
.
.
.
.