Sports

बेंगलुरू : मुंबई ने गुरुवार को यहां रणजी ट्रॉफी क्वार्टर फाइनल के चौथे दिन उत्तराखंड को 725 रन के विशाल अंतर से रौंदकर प्रथम श्रेणी क्रिकेट में सबसे बड़े अंतर से जीत दर्ज करने का नया विश्व रिकॉर्ड बनाया। मुंबई ने न्यू साउथ वेल्स के 92 साल पुराने शेफील्ड शील्ड के रिकॉर्ड को तोड़ा। न्यू साउथ वेल्स ने तब क्वीन्सलैंड को 685 रन से हराया था। 

रणजी ट्रॉफी में रनों के लिहाज से सबसे बड़ी जीत का पिछला रिकॉर्ड बंगाल के नाम था जिसने 1953-54 में ओडिशा को 540 रन से हराया था। मुंबई के विश्व रिकॉर्ड से एक दिन पहले बंगाल ने एक अन्य क्वार्टर फाइनल में झारखंड के खिलाफ एक पारी में सर्वाधिक 9 बल्लेबाजों के 50 या इससे अधिक रन बनाने का रिकॉर्ड बनाया। मुंबई की टीम अब सेमीफाइनल में उत्तर प्रदेश से भिड़ेगी। 

पहले दिन से ही दबदबा बनाने वाले 41 बार के रणजी चैंपियन मुंबई ने अपनी दूसरी पारी तीन विकेट पर 261 रन बनाकर घोषित की और उत्तराखंड को 794 रन का लक्ष्य दिया। मुंबई ने पदार्पण कर रहे सुवेद पार्कर (252) के दोहरे शतक की बदौलत पहली पारी आठ विकेट पर 647 रन बनाकर घोषित की थी। पहली पारी में 114 रन पर ढेर हुआ उत्तराखंड दूसरी पारी में सिर्फ 69 रन ही बना सका। 

मुंबई की ओर से अनुभवी तेज गेंदबाज धवल कुलकर्णी ने 11 रन देकर तीन विकेट चटकाए जबकि बाएं के स्पिनर शम्स मुलानी (15 रन पर तीन विकेट) और आफ स्पिनर (13 रन पर तीन विकेट) ने भी तीन-तीन विकेट चटकाए। उत्तराखंड की ओर से शिवम खुराना (नाबाद 25) और कुणाल चंदेला (21) ही दोहरे अंक में पहुंच पाए। उत्तराखंड के पांच बल्लेबाज खाता खोलने में भी नाकाम रहे। पार्कर को मैच का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुना गया। 

.
.
.
.
.