Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर माइकल वॉन को बीबीसी के रेडियो 5 टफर्स एंड वॉन शो से हटा दिया गया है क्योंकि उनका नाम 'अजीम रफीक नस्लवाद मुद्दे' में घसीटा गया था। यह आरोप लगाया गया है कि वॉन ने एशियाई खिलाड़ियों से कहा कि उनकी तरह के बहुत सारे हैं और उसी के संबंध में कुछ करने की जरूरत है। इसके अलावा यॉर्कशायर के एक अन्य क्रिकेटर राणा नावेद-उल-हसन ने पुष्टि की कि उन्होंने 2009 में वॉन को कुछ एशियाई खिलाड़ियों के खिलाफ नस्लवादी टिप्पणी करते हुए सुना था। बीबीसी ने भी इस मामले पर एक बयान भी जारी किया। 

बीबीसी ने बयान में कहा कि वे जांच का हिस्सा नहीं हैं और प्रस्तुत रिपोर्ट तक उनकी पहुंच नहीं है। बयान में यह भी कहा गया है कि बीबीसी इंग्लैंड के पूर्व कप्तान पर लगाए गए आरोपों से अवगत है। उन्होंने कहा, 'माइकल वॉन के खिलाफ आरोप बीबीसी के लिए काम करने के उनके समय से पहले का है, हम यॉर्कशायर काउंटी क्रिकेट क्लब द्वारा की गई जांच का हिस्सा नहीं थे और हमें बाद की रिपोर्ट तक कोई जानकारी नहीं थी। हालांकि हमें एक ही आरोप से अवगत कराया गया जिसका माइकल दृढ़ता से खंडन करते हैं और हम स्थिति की बारीकी से निगरानी कर रहे हैं। 

बीबीसी ने कहा, हमने संपादकीय निर्णय लिया है कि माइकल सोमवार को लाइव टफर्स एंड वॉन शो में प्रस्तुतकर्ता के रूप में दिखाई नहीं देंगे। यह शो वर्तमान क्रिकेट मामलों पर सामयिक चर्चा पर केंद्रित है और उनकी व्यक्तिगत भागीदारी को देखते हुए हमें यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि हम कार्यक्रम की निष्पक्षता बनाए रखें। हम माइकल और उनकी टीम के साथ चर्चा में बने हुए हैं। 

वहीं वॉन का इस बारे में कहना है कि यह आरोप पूरी तरह से निराधार है और एक दशक से भी अधिक समय बाद यह आरोप लगाया गया था कि इसे कानूनी कार्यवाही करना और अधिक कठिन हो गया है। मैं पूरी तरह से और स्पष्ट रूप से इनकार करता हूं कि मैंने कभी उन शब्दों को कहा था। 

.
.
.
.
.