Sports

जिनेवा : दुनिया के दूसरे नंबर के खिलाड़ी दानिल मेदवेदेव ने यूक्रेन से जुड़ी हाल की खबरों को ‘बेहद परेशान करने वाला' बताया जिसके कारण विंबलडन के आयोजकों ने उन्हें और अन्य रूसी खिलाड़ियों को इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट में खेलने से प्रतिबंधित कर दिया। 

यूएस ओपन चैंपियन मेदवेदेव जिनेवा ओपन में बात कर रहे थे। वह हर्निया का ऑपरेशन करवाने के कारण पांच सप्ताह बाद एटीपी टूर में वापसी कर रहे हैं। मेदवेदेव से पूछा गया कि जब वह नहीं खेल रहे थे तो क्या रूस के यूक्रेन के हमले पर करीबी नजर रखे हुए थे, उन्होंने कहा, ‘जो कुछ हो रहा है उस पर गौर करने के लिये मेरे पास कुछ समय था। हां, यह बहुत परेशान करने वाला है।' 

मेदवेदेव ने इससे पहले फरवरी में रूस के यूक्रेन पर हमले के बाद कहा था कि वह शांति चाहते हैं। अधिकतर ओलंपिक खेलों ने रूसी टीम और खिलाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भाग लेने से प्रतिबंधित कर रखा है, लेकिन टेनिस ने खिलाड़ियों को अपने देश के प्रतिनिध नहीं बल्कि व्यक्तिगत स्तर पर भाग लेने की अनुमति दे रखी है। 

विंबलडन ने हालांकि तीन सप्ताह पहले ब्रिटिश सरकार के फैसले की तर्ज पर रूसी खिलाड़ियों को टूर्नामेंट में भाग लेने से प्रतिबंधित कर दिया था। मेदवेदेव ने कहा कि यदि परिस्थितियां बदलती हैं तो वह 27 जून से शुरू होने वाले विंबलडन में खेलना चाहेंगे। उन्होंने कहा, ‘यदि मैं खेल सकता हूं तो मुझे विंबलडन में खेलने में खुशी होगी। मुझे यह टूर्नामेंट पसंद है।' 

.
.
.
.
.