Sports

नई दिल्ली : कोविड-19 महामारी के बीच अपने पहले उबेर कप की तैयारियों में जुटी भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी मालविका बंसोड़ ने कहा कि वह इस वायरस के खतरे से चिंतित नहीं हैं और लंबे ब्रेक के बाद वापसी के लिए बेकरार हैं। मार्च में कोरोना वायरस के फैलने के बाद थॉमस और उबेर कप फाइनल्स पहला वैश्विक बैडमिंटन टूर्नामेंट होगा जिसका आयोजन तीन से 11 अक्टूबर तक डेनमार्क में आरहस में किया जाएगा। उन्होंने कहा- बैडमिंटन खेले बिना इतने महीने हो चुके हैं, इसलिए मैं इस टूर के बारे में काफी रोमांचित हूं। मैं कोविड-19 खतरे से ज्यादा चिंतित नहीं हूं। 

नागपुर की इस बैडमिंटन खिलाड़ी ने कहा- यह पहली बार है जब मुझे उबेर कप के लिए टीम में शामिल किया गया है, इसलिए मैं बहुत खुश हूं। मैं पिछले दो हफ्तों में ट्रेनिंग करने में सफल रही। जब लॉकडाउन हटाया गया तो मैंने जूनियर भारतीय कोच संजय मिश्रा सर के साथ सत्र लिए। इसलिए मैं अच्छी तरह तैयार हूं। 

मालविका ने कहा कि वह इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट के लिए राष्ट्रीय टीम में शामिल किये जाने की उम्मीद नहीं कर रही थी। इस बायें हाथ की शटलर ने कहा- मुझे टीम में बुलाए जाने की उम्मीद नहीं थी लेकिन मेरी रैंकिंग भारत की दूसरे नंबर की खिलाड़ी आकर्षी कश्यप के बाद है। इसलिए मैं उम्मीद लगाए थी। देश का प्रतिनिधित्व करना शानदार है। 

.
.
.
.
.